मनोरंजन

9वें मुंबई शार्ट इंटरनेशनल फ़िल्म फेस्टिवल 2020 में शार्ट फ़िल्म ‘मास्क’ काफी चर्चित व प्रशंसनीय रही

निर्देशक एस के दास की शार्ट फ़िल्म 'मास्क' को देश विदेश के फ़िल्म फेस्टिवल में काफी सराहा गया और कई अवार्ड मिले

मुंबई। निर्देशक एस के दास की शार्ट फ़िल्म ‘मास्क’ मुंबई में ६ दिसम्बर २०२० को हुए 9वें मुंबई शार्ट इंटरनेशनल फ़िल्म फेस्टिवल 2020 में चर्चा का विषय और काफी सराहा गया। फिल्म “मास्क” की राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोहों में काफी सराहना की गई और कई अवार्ड भी जीते।

ओडिशा प्रशासनिक सेवा के एक वरिष्ठ अधिकारी श्री स्वेता कुमार दाश द्वारा निर्देशित ओडिया लघु फिल्म ‘मास्क’ ने ओड़िआ में अंग्रेजी सबटाइटल के साथ 7-मिनट-18-सेकंड की फिल्म एक गरीब लड़के(अजय चौधरी) के संघर्ष के आसपास घूमती है, जो अपने परिवार के लिए आजीविका को बनाए रखने के लिए अपनी मां द्वारा तैयार हाथ से बने ‘मास्क’ बेचने का काम शुरू करता है। लेकिन कम कीमत के कारण और बहुत लुभावना नहीं होने के कारण मास्क ज्यादा लोग नहीं खरीदते है। फेस्टिवल जूरी के सदस्यों ने ‘मास्क’ को कोविद -19 पर सर्वश्रेष्ठ जागरूकता फिल्म के रूप में चयन किया था। बेरहमपुर में एक गरीब परिवार से रहने वाले एक छोटे से लड़के अजय चौधरी द्वारा शानदार अभिनय, जूरी सदस्यों से भी व्यापक प्रशंसा प्राप्त हुई।

अभी हॉल में अर्जेंटीना में हुए ‘क्वारंटाइन इमेज फिल्म फेस्टिवल 2020′ में प्रतिष्ठित अंतर्राष्ट्रीय पीपुल्स च्वाइस अवार्ड जीता है।इससे पहले फिल्म ने “फ्लिकफेयर” में नामांकित व्यक्तियों की अंतिम सूची में भी जगह बनाया था और यूके में पहली बार फिल्म समारोह में व्यापक रूप से प्रशंसित किया गया। इसे आधिकारिक तौर पर भारत की एकमात्र फिल्म के रूप में टेहरन में हुए ’16 वें रेसिस्टेन्स अंतर्राष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल’ में फाइनल के लिए चुना गया था।

फिल्म के बारे में एस के दाश कहते है,”कोरोना वायरस के फैलाव को कम करने लिए मास्क का उपयोग करने के लिए लोगों के बीच अधिक जागरूकता पैदा करने के लिए, मैंने यह शॉर्ट फिल्म” मास्क “बनाया, जिसके लिए ओडिशा के माननीय मुख्यमंत्री, गवर्नर व माननीय सांसदों इत्यादि लोगों ने प्रशंसा की। इस फिल्म को और कई फिल्म फेस्टिवल में भेजने की तैयारी कर रहे है।”

श्री एस के दाश इससे पहले शार्ट फिल्म ‘सन्नी- दी सन ऑफ़ रिवर महानदी’ जिसके लिए उड़ीसा सरकार अवार्ड दिया गया था। इसके अलावा ‘निर्भया कांड’ पर बनी हिंदी फीचर फिल्म “दिल्ली बस” में फिल्म के पटकथा और संवाद लिखने में भी भागीदारी की थी।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button