Uncategorized

सुशांत के खाते से किसके इशारे पर दो दिनों में टूटी साढ़े चार करोड़ की एफडी? ED को मिले अलग-अलग जवाब

प्रवर्तन निदेशालय सुशांत मामले,चार करोड़ की एफडी,सुशांत सिंह के खाते , रिया चक्रवर्ती, मैनेजर श्रुति,प्रवर्तन निदेशालय सुशांत मामले

नई दिल्ली: सुशांत सिंह के खाते से किसके इशारे पर दो दिनों के भीतर टूटी साढ़े चार करोड़ रुपये की F.D.? ईडी ने इस बारे में सुशांत सिंह की पूर्व गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती उनकी मैनेजर श्रुति और सुशांत की बहन से पूछताछ की. तीनों ने ईडी को इस बारे में अलग अलग जवाब दिए. प्रवर्तन निदेशालय अब इस बारे में बैंक कर्मियों से पूछताछ करने जा रहा है. साथ ही आने वाले दिनों में अब प्रवर्तन निदेशालय रिया और उसके परिजनों समेत दिए गए बयानों की सत्यता की जांच करेगा.

प्रवर्तन निदेशालय सुशांत मामले में 15 करोड़ रुपये की रकम को लेकर बेहद परेशान है. परेशानी इसलिए भी है क्योंकि रिया चक्रवर्ती ने इस मामले में अपनी 4 सालों की आइटीआर ईडी के सामने पेश कर दी है और दावा किया है कि उनके बैंक खाते में करोड़ों की कोई रकम सुशांत सिंह के खाते से नहीं आई है. साथ ही ईडी को अब तक सुशांत सिंह के खाते में 15 करोड़ रुपये होने का पता भी नहीं चला है.

ऐसे में दस्तावेजों की जांच के दौरान अचानक ईडी को एक दस्तावेज मिला और यह दस्तावेज सुशांत सिंह के कोटक महिंद्रा बैंक मुंबई के बांद्रा इलाके का बताया जाता है. दस्तावेज के मुताबिक सुशांत सिंह के इस खाते में 26 नवंबर 2019 को दो एफडी कराई गई थी, इनमें एक एफडी ढाई करोड़ रुपये की जबकि दूसरी एफडी दो करोड़ रुपये की थी. लेकिन दस्तावेज यह भी बताता है कि मात्र 2 दिनों के भीतर इन दोनों एफडी को खुलवा दिया गया और 26 नवंबर 2019 को ये एफडी मात्र एक एक करोड़ रुपये की कर दी गई.

ईडी के एक आला अधिकारी ने बताया की कोई भी इंसान जब करोड़ों रुपयों की एफडी कराता है तो बेहद सोच समझकर कराता है, लेकिन जब करोड़ों रुपये की एफडी मात्र 2 दिनों के भीतर तोड़ दी जाए, तो ऐसे में संदेह होना स्वाभाविक है. ईडी जानना चाहता है कि यह एफडी किसके कहने पर तोड़ी गई थी और एफडी का बाकी ढाई करोड़ रुपये कहां चले गए ईडी का यह शक तब और गहरा गया.

बैंक कर्मियों से भी पूछताछ

जब ईडी ने इस बारे में रिया चक्रवर्ती, उसकी मैनेजर श्रुति तथा सुशांत की बहन मीतू से सवाल जवाब किए सूत्रों के मुताबिक श्रुति ने अपने जवाब में कहा कि वह सुशांत के बैंक खातों का काम नहीं देख रही थी, लिहाजा इस बारे में सुशांत या रिया ही बता सकते हैं. रिया ने अपने बयान में कहा कि उसने अपने दस्तावेज ईडी को सौंप दिए हैं और उन दस्तावेजों में कहीं भी करोड़ों रुपये की रकम सुशांत के खाते से नहीं आई है यह फैसला सुशांत ने ही लिया था और इसके बारे में वही बता सकते हैं. जबकि सुशांत की बहन मीतू ने कहा की यह घटना बताती है कि सुशांत के पैसों को तोड़ मरोड़ कर हथिया लिया गया.

ईडी सूत्रों के मुताबिक इस मामले में अब बैंक कर्मियों से भी पूछताछ की जाएगी कि किसके इशारे पर यह एफडी टूटी थी? ईडी जानना चाहता है कि करोड़ों की यह एफडी तुड़वाने के लिए क्या सुशांत खुद बैंक आए थे और यदि वह बैंक आए थे, तो क्या रिया उनके साथ थीं. सूत्रों ने बताया कि आने वाले कुछ दिनों में ईडी रिया और उनके परिजनों द्वारा दिए गए बयानों की सत्यता की जांच करेगा और उसके बाद ही इन लोगों को पूछताछ के लिए बुलाया जाएगा.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button