बॉलीवुडमनोरंजन

साल के अंत में इन सितारों की फिल्में बॉक्स ऑफिस पर चमकने के लिए तैयार

ठग्स के कलेक्शन को भी पीछे छोड़ सकता हैं इन फिल्मों का रिकॉर्ड

2018 ने अभी तक हर महीने इंडस्ट्री को मालामाल किया हैं। ऐसे में इस बार नवंबर-दिसंबर की उमंग और उत्साह कुछ ज्यादा हैं..दिवाली के साथ बॉक्स ऑफिस पर उस दौर की शुरुआत हो चुकी हैं, जिसका बॉलीवुड हर साल बेसब्री से इंतजार करता हैं। साल के आखिरी दिन सिनेमावालों के लिए सबसे रोमांचक होते हैं। हर सितारा इन दिनों में चमकना चाहता हैं। इस बार भी दिवाली की शुरुआत से लेकर 2019 के आगमन तक कुछ रंगीनियां बॉक्स ऑफिस पर बिखरने को तैयार हैं।

दिवाली की छुट्टियां, क्रिसमस की खुशियां और नए साल का जश्न। इन दो महीनों में बॉलीवुड सबसे ज्यादा कमाई करता हैं और इस साल सब कुछ इंडस्ट्री की योजना के मुताबिक चला तो टिकट खिड़की से 1000 करोड़ रुपये से अधिक की नेट कमाई होनी चाहिए। दिवाली के मौके पर ‘ठग्स ऑफ हिंदोस्तान’ रिलीज हुई हैं। साल 2018 अभी तक बॉलीवुड के लिए बढ़िया रहा हैं और ठग्स ऑफ हिंदोस्तान का पहले दिन का कलेक्शन 52.25 करोड़ रुपये बताया जा रहा हैं।

नवंबर-दिसंबर के आने वाले दिनों में ऐसी फिल्में रिलीज के लिए तैयार हैं जो ठग्स के कलेक्शन को भी पीछे छोड़ सकती हैं क्योंकि इस साल के टिकट खिड़की रिकॉर्ड बताते हैं कि दर्शक फिल्म देखने के मूड में हैं। इन महीनों में करीब आधा दर्जन मसाला और कंटेंट फिल्मों से चमत्कार की उम्मीद की रही हैं। कंटेंट फिल्मों में निर्देशक विनोद कापड़ी की पीहू, अंतरराष्ट्रीय स्तर पर चर्चित निर्देशक वासन बाला की मर्द को दर्द नहीं होता और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के यूपीए कार्यकाल पर आधारित द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर शामिल हैं, जिसमें अनुपम खेर हैं। लंबे समय से रुकी पड़ी सनी देओल स्टारर मोहल्ला अस्सी भी रिलीज को तैयार हैं।

खास तौर पर यूपी में इसे कुछ दर्शक मिल सकते हैं। जिन फिल्मों पर आने दिनों में सबसे ज्यादा नजरें हैं, उनमें सुपरस्टार रजनीकांत और अक्षय कुमार स्टारर 2.0 देश की सबसे महंगी फिल्म हैं। यह इस महीने आखिरी शुक्रवार को रिलीज होगी। फिल्म के ट्रेलर ने बहुत प्रभावित नहीं किया हैं और निर्माता-निर्देशकों के लिए चिंता का विषय हैं। फिल्म मोबाइल फोन के विकिरण के कारण प्रकृति के सामने पैदा हो रहे संकट की बात कर रही हैं। जिन फिल्मों पर आने दिनों में सबसे ज्यादा नजरें हैं, उनमें सुपरस्टार रजनीकांत और अक्षय कुमार स्टारर 2.0 देश की सबसे महंगी फिल्म है। यह इस महीने आखिरी शुक्रवार को रिलीज होगी। फिल्म के ट्रेलर ने बहुत प्रभावित नहीं किया हैं और निर्माता-निर्देशकों के लिए चिंता का विषय हैं। फिल्म मोबाइल फोन के विकिरण के कारण प्रकृति के सामने पैदा हो रहे संकट की बात कर रही हैं।

नए भारत कुमार बन चुके अक्षय को दर्शक इस फिल्म में क्या विलेन के रूप में पसंद करेंगे, यह एक जटिल सवाल हैं। तीन भाषाओं में बनी 2.0 को हिंदी में धर्मा प्रोडक्शंस रिलीज कर रहा हैं। उसे ध्यान रखना होगा कि रजनीकांत के लिए नॉर्थ में बहुत क्रेज नहीं हैं। अत: फिल्म के प्रचार-प्रसार में उसे यहां अतिरिक्त मेहनत करनी होगी। यह भी जरूरी है कि अक्षय इस फिल्म के प्रमोशन के लिए खास तौर पर समय निकालें। रिलीज में ज्यादा वक्त नहीं बचा है और 2.0 का प्रचार कहीं नजर नहीं आ रहा। यह फिल्म बॉक्स ऑफिस को सबसे ज्यादा खुशी या सबसे ज्यादा गम देने का माद्दा रखती हैं।

दिसंबर में ट्रिपल धमाका हैं। निर्देशक अभिषेक कपूर की सुशांत सिंह राजपूत और सारा अली खान स्टारर केदारनाथ (130 करोड़), निर्देशक आनंद एल.राय की शाहरुख खान स्टारर जीरो (200 करोड़) और निर्माता-निर्देशक रोहित शेट्टी की सिंबा (100 करोड़) धूम-धड़ाके से रिलीज होंगी। तीनों ही महंगी फिल्में हैं और इनसे मोटे कलेक्शन की उम्मीद की जा रही हैं।

जीरो और सिंबा के बारे में ट्रेड विशेषज्ञों की राय हैं कि दोनों औसतन 35 करोड़ रुपये के करीब ओपनिंग लेंगी। मगर इनका प्रमोशन अच्छा रहा, तो यह आंकड़े अधिक भी हो सकते हैं। खास बात यह हैं कि दोनों फिल्में नॉन-हॉलीडे यानी बिना अतिरिक्त छुट्टी वाले हफ्ते में रिलीज हो रह हैं। अत: वह फायदा इन्हें नहीं मिलेगा। सिंबा एक एक्शन फिल्म है परंतु सलमान खान की टाइगर जिंदा हैं की तरह नहीं। जीरो और सिंबा में एक किस्म की टक्कर भी है क्योंकि उनकी रिलीज के बीच केवल हफ्ते का फर्क हैं।

दोनों एक-दूसरे के कलेक्शन पर फर्क डाल सकती हैं। जीरो तभी दूसरे हफ्ते में अच्छा कर सकेगी, जब उसका कंटेंट अच्छा हुआ और लोगों को पसंद आया। सिंबा के आते ही जीरो के थियेटर घट जाएंगे और सबका पूरा फोकस रोहित शेट्टी की फिल्म पर होगा। सिंबा के परफॉरमेंस पर केदारनाथ से डेब्यू करने वाली सारा अली खान के काम का भी फर्क पड़ेगा।</>

सारा को अगर नई पीढ़ी ने केदारनाथ में पसंद किया तो निश्चित रूप से वह सिंबा देखने की भी जाएगी। सिंबा को जहां उत्तर भारतीय दर्शकों के लिए बेहतर माना जा रहा हैं, वहीं जीरो को देश के सबसे बड़े मार्केट मुंबई के लिए बेहतर माना जा रहा हैं। ऐसे में शाहरुख और उनकी टीम को उत्तर भारत में अपनी फिल्म को अतिरिक्त प्रमोट करने की जरूरत पड़ेगी। केदारनाथ का उद्धार भी मुंबई के साथ उत्तर भारत के दर्शक ही कर सकेंगे।<>

Tags
advt