अंतर्राष्ट्रीयखेल

धर्म परिवर्तन कराने की गई कोशिश, पर कामयाबी नहीं मिली: दानिश कनेरिया

नई दिल्ली: पाकिस्तान में धर्म परिवर्तन मामले में पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर दानिश कनेरिया ने कहा कि पाकिस्तान में उनका धर्म कराने की कोशिश की गई. हालांकि, ऐसा करने वालों को कामयाबी नहीं मिली.

पूर्व लेग स्पिनर दानिश कनेरिया ने #AskDanish सेशन में खुलकर बातें की. इस दौरान एक प्रशंसक ने उनसे इस्लाम कबूलने की बात कही. आमना गुल नामक ट्विटर हैंडल से कमेंट आया, ‘प्लीज आप इस्लाम कबूल कर लीजिए.

इस्लाम के बिना कुछ नहीं है. आप इस्लाम कबूल कर लीजिए.’ इस पर कनेरिया ने जवाब दिया, ‘आप जैसे कई लोग कोशिश कर चुके हैं कि मैं अपना धर्म बदल लूं, लेकिन सफल नहीं हो पाए.’

दानिश कनेरिया ने एक सवाल के जवाब में यह भी कहा कि वो पाकिस्तान में पूरी तरह से सुरक्षित महसूस करते हैं. इसके अलावा उन्होंने कहा कि उन्हें हिंदू होने पर गर्व है. दानिश ने यह भी कहा कि टीम के साथी खिलाड़ी भी उनके साथ भेदभाव करते थे. वे बहुत जल्द उन नामों को सार्वजनिक करेंगे.

एक प्रशंसक ने उनसे शोएब अख्तर को लेकर सवाल पूछ लिया. उसने कहा कि शोएब अख्तर ने आपको सुर्खियों में रखा है. इससे आपको कैसा लग रहा है? इस पर दानिश कनेरिया ने जवाब दिया, ‘उनकी बातें भी गेंदबाजी की तरह धारदार हैं. इसमें कोई शक नहीं कि मुझे पीसीबी (PCB) से समर्थन नहीं मिला. वे मुझसे बात भी नहीं करना चाहते थे. लगता है कि मुझे पाकिस्तान में अल्पसंख्यक समुदाय का खिलाड़ी होने की सजा मिली.’

दानिश कनेरिया अपने मामा अनिल दलपत के बाद पाकिस्तान की ओर से खेलने वाले दूसरे हिंदू खिलाड़ी रहे हैं. उन्होंने पाकिस्तान के लिए 61 टेस्ट और 15 वनडे मैच खेले हैं. उन पर स्पॉट फ़िक्सिंग का आरोप लगा था, जिसके बाद उनका अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर लगभग खत्म हो गया.

Tags
Back to top button