छत्तीसगढ़

रामकृष्ण नगर चौराहे पर ट्रैफिक सिग्नल लगवाने पुनः कराया गया ध्यानाकर्षण

ब्युरो चीफ : विपुल मिश्रा संवाददाता: शिव कुमार चौरासिया

O शहर में बँद पड़े हैं कैमरे इनकी प्रासंगिकता पर उठाए सवाल

राजनांदगाव: वार्ड क्रमांक – 45, रामकृष्ण नगर चौराहे (क्रिश्चियन हॉस्पिटल के सामने) के सामने लगातार हो रही सड़क दुर्घटना से क्षुब्ध और यातायात पुलिस की अव्यवस्था से नाराज़ होकर वार्ड पार्षद गगन आईच ने वार्डवासियों के साथ मिलकर यातायात प्रभारी को ज्ञापन के माध्यम से पुनः ध्यानाकर्षण कराया।

उक्ताशय की जानकारी देते हुए वार्ड पार्षद गगन आईच ने बताया कि, रामकृष्ण नगर के जी ई रोड़ स्थित चौराहे पर आये दिन सड़क दुर्घटना होती रहती है, इस सड़क दुर्घटना में बड़ी सँख्या में लोग जहाँ घायल हो रहें हैं, वहीं उनमें से कई मामलों में घायलों की मृत्यु भी हो रही है। चूँकि यह फ्लाई ओवर का अँतिम छोर होने के कारण इस स्थान प्रायः वाहन काफी तेज गति से चलते हैं।

वाहन की रफ्तार तेज होने से जहाँ एक ओर सड़क दुर्घटना की संभावना स्वाभाविक तौर पर बनी रहती है, वहीं उक्त सड़क दुर्घटना में घायलों की मृत्यु भी हो जाती है। सड़क दुर्घटना का आकड़ा दिन-प्रतिदिन बढ़ने से इस हादसे से मृत्युदर में भी तेजी से इज़ाफ़ा हो रहा है, और जान माल की लगातार हानि हो रही है। उक्त मामले पर पहले भी धयानकर्षण कराया जा चुका है। बावजूद कभी तक किसी भी प्रकार की कार्यवाही नही की जा सकी है।

ध्यान देने वाली बात यह भी है कि, उक्त चौराहे के निकट ही एक एक निजी अस्पताल और एक विद्यालय भी है, जहाँ क्रमशः मरीजों और बच्चों की जान को खतरा बना रहता है। साथ ही जिलाधीश, पुलिस अधीक्षक, वन संरक्षक, अपर कलेक्टर, डिप्टी कलेक्टर आदि के बँगले भी है। ऐसे विशिष्ट और महत्वपूर्ण लोगो की जान को भी खतरा हमेशा बना रहता है।

अतएव उक्त स्थल पर सड़क दुर्घटना को रोकने और लोगो के जीवन की रक्षा करने जैसे महत्वाकांक्षी उद्देश्य को पूरा करने चौराहे पर एक ट्रैफिक सिग्नल लगाए जाने की महती आवश्यकता महसूस की जा रही है।

उक्त गंभीर मामले पर पुनः यातायात प्रभारी का धयानकर्षण कराया गया है। यही नही यातायात पुलिस द्वारा जल्द ही यदि ट्रैफिक सिग्नल नही लगाए जाने पर वार्ड वासियो के साथ बड़ा आंदोलन किया जयेगा।

यही नही पूर्व पुलिस अधीक्षक श्री जितेन्द्र शुक्ला द्वरा कहा गया था कि शहर में करीब 200 कैमरे लगया जाएगा पर अब तक उसमे कोई प्रक्रिया सामने नही आई है तथा बंद पड़े कैमरो को कब चालू कराया जाएगा

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button