गुजरात चुनाव: ऑडियो क्लिप से हुआ सौदेबाजी का ‘खुलासा’

गुजरात में दिसंबर में होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले पाटीदार अनामत आंदोलन समिति (PAAS) के नेता नरेंद्र पटेल तथा समिति छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए वरुण पटेल के बीच फोन पर बातचीत से चुनावों से पहले होने वाली सौदेबाजी का खुलासा हुआ है।

नरेंद्र पटेल ने रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बीजेपी पर अपने समर्थकों को खरीदने का आरोप लगाया था।

इसके साथ ही उन्होंने 10 लाख रुपए कैश की सामने रखा, जिसे उन्होंने बीजेपी द्वारा दी गई अडवांस राशि होने का दावा किया।

ऑडियो क्लिप में वरुण ने नरेंद्र से कहा, ‘जितनी राशि का वादा किया गया है, उसका 60 प्रतिशत मिलने के बाद एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करना। उसके बाद ही आपको बाकी बची हुई राशि मिलेगी।’

ऑडियो क्लिप में नरेंद्र ने पूरी राशि को एक बार में ही दिए जाने का सवाल उठाया। हालांकि वरुण ने उन्हें प्रेस कॉन्फ्रेंस करने के लिए मना लिया और 4-5 लोगों के साथ कॉन्फ्रेंस करने को कहा।

पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने इस क्लिप पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, ‘वरुण पटेल और बीजेपी का असली चेहरा उजागर हो गया है। यह साबित हो गया है कि हमारे सदस्यों को खरीदने के लिए पैसे का इस्तेमाल किया जा रहा है। हमारे पास ऐसे पर्याप्त सबूत हैं। चुनाव आयोग को इस पर संज्ञान लेना चाहिए।’

गुजरात में 9 और 14 दिसंबर को दो चरणों में होने वाले चुनाव से पहले राजनीतिक सरगर्मी तेज होती दिख रही है। मेहसाणा की विसनगर कोर्ट ने हार्दिक और 6 अन्य के खिलाफ गैर जनामती वॉरंट को कैंसल कर दिया। हार्दिक गुरुवार को कोर्ट में पेश हुए और भविष्य में भी सुनवाई के दौरान उपस्थित रहने का आश्वासन दिया था।

advt
Back to top button