ऑस्ट्रेलियन ओपन: जोकोविच को क्वार्टर फाइनल में नही करनी पड़ी मशक्कत

उनके प्रतिद्वंद्वी केई निशिकोरी जांघ की मांसपेशियों में खिंचाव के कारण दूसरे सेट में ही हट गए थे.

सर्बियाई स्टार नोवाक जोकोविच ने बिना पसीना बहाए ऑस्ट्रेलियन ओपन के सेमीफाइनल में जगह बना ली है.

विश्व में नंबर एक जोकोविच को क्वार्टर फाइनल में ज्यादा मशक्कत नहीं करनी पड़ी.

उनके प्रतिद्वंद्वी केई निशिकोरी जांघ की मांसपेशियों में खिंचाव के कारण दूसरे सेट में ही हट गए थे.

जापानी खिलाड़ी ने जब हटने का फैसला किया, तब जोकोविच 6-1, 4-1 से आगे चल रहे थे. इस दौरान 52 मिनट का मुकाबला हुआ.

8वीं सीड निशिकोरी ने इससे पहले टूर्नामेंट में तीन बार पांच सेटों के मैच खेले जिसका उन पर प्रभाव पड़ा.

रिकॉर्ड सातवें ऑस्ट्रेलियाई ओपन खिताब की कवायद में लगे 31 साल के जोकोविच सेमीफाइनल में फ्रांस के 28वें वरीय लुकास पोउली से भिड़ेंगे, जिन्होंने कनाडा के मिलोस राओनिच को 7-6 (7/4), 6-3, 6-7 (2/7), 6-4 से हराया.

यह पहला अवसर है, जब पोउली ग्रैंड स्लैम सेमीफाइनल में पहुंचे हैं. उधर, सेरेना विलियम्स का कैरोलिना प्लिसकोवा के हाथों हार के साथ ही 24 ग्रैंड स्लैम खिताब जीतने के रिकॉर्ड की बराबरी करने का इंतजार बढ़ गया.

सेरेना ने चौथे दौर में सिमोना हालेप को हराया था, लेकिन चेक गणराज्य की सातवीं वरीयता प्राप्त प्लिसकोवा के खिलाफ संघर्षपूर्ण मैच में उन्हें 6-4, 4-6, 7-5 से हार का सामना करना पड़ा.

प्लिसकोवा तीसरी बार ग्रैंड स्लैम सेमीफाइनल में पहुंची हैं. इससे पहले वह 2017 में फ्रेंच ओपन और पिछले साल अमेरिकी ओपन के अंतिम चार में पहुंची थीं.

सेरेना के लिए यह हार निराशाजनक है, क्योंकि तीसरे सेट में एक समय वह 5-1 से आगे चल रही थीं और मैच के लिए सर्विस कर रही थीं, लेकिन इसके बाद उन्होंने कुछ गलत शॉट लगाए, जिसका हताशा उनके हावभावों में साफ नजर आ रही थी.

प्लिसकोवा को फाइनल में जगह बनाने के लिए जापान की नाओमी ओसाका से भिड़ना होगा. चौथी वरीयता प्राप्त ओसाका ने चोटिल एलिना स्वितोलिना को 6-4, 6-1 से करारी शिकस्त दी.

ओसाका 1994 में किमिको डेट के बाद ऑस्ट्रेलियाई ओपन के अंतिम चार में पहुंचने वाली जापान की पहली खिलाड़ी बनीं. वह अमेरिकी ओपन के बाद लगातार दूसरे ग्रैंड स्लैम सेमीफाइनल में पहुंची हैं.

 

advt
Back to top button