राष्ट्रीय

ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ियों ने कैफे भड़ास पर आकर अपनी हार की भड़ास निकाली

भारत और ऑस्ट्रेलिया के एक दिवसीय क्रिकेट मैच सीरीज में भारत ने लगातार ३ मैच जीत कर सीरीज अपने नाम कर ली ऑस्ट्रेलिया के खिलाडी किसी भी तरह अपनी पराजय की कुंठा को बाहर  निकलना चाहते थे इन खिलाड़ियों ने इंदौर में कैफे भड़ास के बारे में सुना की इस कैफे में एक एंगर एक्सप्रेशन रूम है जहा पर अपनी मर्जी से जो चाहे तोड़कर अपनी भड़ास को व्यक्त कर सकते हैं |

ऑस्ट्रेलिया के खिलाडी डीन जोन्स और ब्रैड हॉग कैफे भड़ास पर पहुंचे यहाँ पर इन खिलाड़ियों ने पूरी सुरक्षा व्यवस्था के साथ तोड़ फोड़ के सामान को देखा और बेस बॉल के बैट से टीवी कंप्यूटर लैपटॉप व फिश एक्वैरियम को तोड़कर अपनी खीज बाहर निकाली |दोनों खिलाड़ियों ने बताया की तोड़ फोड़ करके वे स्वयं को बहुत हल्का महसूस कर रहे हैं अब मन में कोई कुंठा और खीज नहीं है अगले मैच में हम जीतने का पूरा प्रयास करेंगे |

डीन जोन्स और ब्रैड हॉग ने बताया की हमने एंगर एक्सप्रेशन रूम के बारे में सुना था पर भारत में पहली बार देखा है और हमें यह प्रभावी भी लगा इस कैफे  का माहौल भी ऐसा बनाया गया है की नेगेटिविटी बहार आने लगती है |

कैफे भड़ास के  संचालक अतुल मालिकराम ने बताया की ऑस्ट्रेलिया टीम के और भी खिलाडी यहाँ आना चाहते थे जिन खिलाड़ियों ने यहाँ आकर अपनी भड़ास निकाली  वे काफी खुश  थे उन्होंने अतुल के इस  प्रयास की सराहना करते हुए कहा की आज की तनाव पूर्ण जिंदगी में यह कैफ़े लोगो का गुस्सा बाहर  निकलने में मददगार साबित होगा

कैफ़े में आगमन पर अतिथियों के रूप में उनका भारतीय पारम्परिक तरीके से हार पहनाकर और आरती करके स्वागत किया गया |कैफे भड़ास  में अपनी नकारत्मकता को बाहर निकालने के बाद खिलाड़ियों ने कैफ़े में कॉफी का आनंद  लिया कैफे भड़ास की ओर से इन खिलाड़ियों को स्मृति चिन्ह  भेट किया और कैफ़े के लिए बैट पर इन खिलाड़ियों के सिग्नेचर लिए गए |

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.