छत्तीसगढ़

ओ.पी. जिंदल विश्वविद्यालय से सम्मानित

द बेस्ट प्राइवेट यूनिवर्सिटी ऑफ़ छत्तीसगढ़ अवार्ड

रायपुर में आयोजित ‘द प्रोग्रेस ग्लोबल अवार्ड्स 2020’ में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की उपस्थिति में विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ आर. डी. पाटीदार ने अवार्ड प्राप्त किया

रायपुर/रायगढ़, 7 नवम्बर 2020: ओपी जिंदल विश्वविद्यालय, रायगढ़ को ‘ द बेस्ट प्राइवेट यूनिवर्सिटी ऑफ़ छत्तीसगढ़ ‘ अवार्ड से सम्मानित किया गया है। 7 नवम्बर 2020 को रायपुर के सयाजी होटल में आयोजित ‘द प्रोग्रेस ग्लोबल अवार्ड्स 2020’ में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री माननीय श्री भूपेश बघेल जी की उपस्थिति में विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ आर. डी. पाटीदार ने विश्वविद्यालय की ओर से यह अवार्ड प्राप्त किया।

ओपीजेयू को राज्य में उच्च गुणवत्ता वाली शिक्षा सेवा प्रदान करने के लिए विश्वविद्यालय की श्रेणी में यह पुरस्कार प्राप्त हुआ। ओपीजेयू को कोविड -19 लॉकडाउन के दौरान किए गए ऑनलाइन शिक्षा के अपने विशेष प्रयासों और प्रावधानों के लिए भी सराहना मिली।इस अवसर पर डॉ. पाटीदार ने सम्मान समारोह के आयोजकों को ‘द प्रोग्रेस ग्लोबल अवार्ड्स 2020’ ओपीजेयू का चयन करने और प्रतिष्ठित ‘ द बेस्ट प्राइवेट यूनिवर्सिटी ऑफ़ छत्तीसगढ़ ‘ अवार्ड को प्रदान करने के लिए धन्यवाद दिया।

डॉ. पाटीदार ने कहा की ‘बेस्ट प्राइवेट यूनिवर्सिटी ऑफ़ छत्तीसगढ़ ‘ अवार्ड प्राप्त कर ओपी जिंदल विश्वविद्यालय एवं इसके सभी सदस्य स्वयं को गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं। ओपीजेयू को यह सम्मान प्राप्त होना एक गौरव का विषय है। अपनी स्थापना से ही विश्वविद्यालय छात्र हित में छात्रों के उज्जवल भविष्य के लिए कार्य कर रहा है। अवार्ड प्राप्त करने पर डॉ पाटीदार ने विश्वविद्यालय के सभी प्राध्यापकों, कर्मचारियों और छात्रों को बधाई देते हुए कहा की यह सम्मान सभी के प्रयासों का परिणाम है।

छात्रों को कॉर्पोरेट अनुदानित छूट

ओपीजेयू को 2020 के दौरान प्रवेश के लिए माता-पिता और छात्रों से सराहनीय प्रतिक्रियाएं प्राप्त हुई हैं । यह विश्वविद्यालय में स्नातक और स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए छात्रों को कॉर्पोरेट अनुदानित छूट भी प्रदान करता है। 2020 में 85% से अधिक प्लेसमेंट के साथ, ओपीजेयू ने 32 लाख रुपये प्रतिवर्ष का शीर्ष पैकेज भी देखा, जो अमेजन से कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग के छात्र सुजीत सोनी को प्राप्त हुई।

विकासशील भारत को विकसित भारत में बदलने के लिए छात्रों के पास कुछ कौशल और मुख्य दक्षताओं जैसे तकनिकी एवं प्रबंधन ज्ञान, डिजिटल साक्षरता, महत्वपूर्ण सोच, और समस्या को सुलझाने के दृष्टिकोण का एक सेट होना चाहिए; और ओपी जिंदल विश्वविद्यालय छात्रों के अंदर यह स्किल सेट एवं मूल्य-आधारित समग्र विकास के लिए कार्य करने के लिए प्रतिबद्ध है। इसी का परिणाम है यह विश्वविद्यालय प्रति वर्ष शिक्षा एवं प्लेसमेंट में नए मानक स्थापित करते हुए नए प्रतिमान गढ़ रहा है ।

यह सर्वविदित है कि रायगढ़ के पुंजिपथरा स्थित ओपी जिंदल विश्वविद्यालय की स्थापना 2014 में (राज्य बिल अधिनियम 13) देश के प्रतिष्ठित औद्योगिक समूह – जिंदल ग्रुप द्वारा देश और विदेश के छात्रों को विश्व स्तरीय शिक्षा और प्रशिक्षण प्रदान करने के उद्देश्य से की गई थी। विश्वविद्यालय विश्व स्तर के पाठ्यक्रम, विश्व स्तरीय शिक्षक, आधुनिक शिक्षण विधियाँ, अत्याधुनिक बुनियादी ढाँचे और शिक्षार्थियों को एक जीवंत परिसर प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है; और विश्वविद्यालय को इस्पात प्रौद्योगिकी और प्रबंधन का सबसे विशिष्ट और विश्वस्तरीय विश्वविद्यालय बनाने पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button