तृतीय लिंग समुदाय के बारे में पंच-सरपंचों को किया गया जागरूक

रायपुर: हमर छत्तीसगढ़ योजना में अध्ययन भ्रमण पर आए पंचायत प्रतिनिधियों को तृतीय लिंग समुदाय के बारे में जागरूक किया गया। योजना के आवासीय परिसर नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान में समूह चर्चा के जरिए पंच-सरपंचों को तृतीय लिंग समुदाय से जुड़े विषयों को संवेदनशीलता से हल करने का संदेश दिया गया। समूह चर्चा में तृतीय लिंग समुदाय के लिए काम करने वाली संस्था मितवा के पदाधिकारियों ने भी हिस्सा लिया। चर्चा में बिलासपुर, मुंगेली और जांजगीर-चांपा जिले के करीब 400 पंचायत प्रतिनिधि शामिल हुए।

मितवा की अध्यक्ष विद्या राजपूत ने पंच-सरपंचों को कहा कि, उनकी संस्था तृतीय लिंग के कल्याण और समाज में उनकी स्वीकारोक्ति के लिए कार्य करती है। राजपूत ने तृतीय लिंग समुदाय से जुड़े विभिन्न मिथकों के बारे में अवगत कराया। उन्होंने पंचायत प्रतिनिधियों से अपील की कि वे तृतीय लिंग समुदाय के लोगों का सहयोग करें। आप जैसे जनप्रतिनिधि समाज में उन्हें पहचान और सम्मान दिला सकते हैं।

मितवा की सदस्य रवीना बिरहा ने कहा कि, तृतीय लिंग भी इसी समाज का हिस्सा है। प्रधानमंत्री आवास योजना, पेंशन योजना और कौशल विकास जैसी योजनाओं का लाभ इस समाज तक पहुंचाएं। उन्होंने पंचायत प्रतिनिधियों से कहा कि, स्कूली शिक्षा के समय भेदभाव न होने दें। किसी भी परिवार में तृतीय लिंग के जन्म पर उनके परिवार को सहज अनुभव कराएं, ताकि उसकी परिवरिश सामान्य ढंग से हो सके। हमर छत्तीसगढ़ योजना के अधिकारी दिनेश अग्रवाल ने समूह चर्चा के दौरान जनप्रतिनिधियों को शासन की विभिन्न योजनाओं की जानकारी दी।

Back to top button