टीकाकरण, मानसिक स्वास्थ्य एवं कोरोना महामारी से संबंधित भ्रांतियों को दूर करने हेतु जागरूकता कार्यक्रम

ब्यूरो चीफ :-विपुल मिश्रा रिपोर्टर:- प्रणव कुमार

फुलवारी शिक्षण एवं युवा कल्याण समिति, अर्क वियत फाउंडेशन एवं गुरुकुल महिला महाविद्यालय की संयुक्त तत्वाधान में आज मानसिक स्वास्थ्य के प्रबंधन पर ऑनलाइन वेबीनार का आयोजन किया जा रहा है जिसमें स्पीकर के रूप में प्रोफेसर डॉक्टर करण पिपरे जी एमबीबीएस, एमडी, डीआरएम, पूर्व अधीक्षक एम्स रायपुर एवं वर्तमान विभागाध्यक्ष न्यूक्लियर मेडिसिन महात्मा गांधी मेडिकल कॉलेज जयपुर राजस्थान के साथ मॉडरेटर के रूप में श्री सत्यपाल सिंह राजपूत जो कि सीनियर जर्नलिस्ट हैं l कोविड-19 के दौरान मेंटल हेल्थ को स्वस्थ रखने के साथ स्वास्थ्य संबंधी उपयोगी जानकारी पर बातचीत की गई ।

कोविड-19 महामारी एक चिकित्सा घटना ना हो का एक व्यक्ति और समाज के रूप में सभी के मानसिक स्वास्थ्य को प्रभावित कर रहा है सामाजिक दूरी अलगाव, तालाबंदी, शिक्षण संस्थाओं, कार्य स्थलों और मनोरंजन स्थल को बंद करना ट्रांसमिशन की श्रृंखला को तोड़ने में मदद करने के लिए घर पर रहना, जो निवारक उपाय किए गए हैं वे सभी के मानसिक स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव डाल रहे हैं l जब हम अनिश्चितता का सामना करते हैं तो डर चिंता और तनाव सामान्य प्रतिक्रिया रहती हैं इस महत्वपूर्ण समय में हमें अपने शारीरिक व मानसिक स्वास्थ्य की देखभाल करना आवश्यक हो गया है हमने अपने समुदाय की सुरक्षा के लिए स्वयं पर यह जिम्मेदारी ली है क्योंकि यह वेबीनार मौजूदा परिस्थितियों में हर किसी के सामने आने वाली चुनौतियों से उबरने और निपटने में मदद करेगा डॉक्टर पिपरे जी ने मानसिक स्वास्थ्य को समझाते हुए कहा कि यह सलामती की स्थिति है जिसमें किसी व्यक्ति को अपनी क्षमताओं का एहसास रहता है वह जीवन के सामान्य तनाव का सामना कर सकता है उन्होंने यह भी कहा कि आप अपनी सकारात्मक सोच से अपनी मानसिक तनाव को कम कर सकते हैं तथा उन्होंने बार-बार कहा कि अपनी सोच से करोना महामारी को हराना है अपने डर को हावी नहीं होने देना है साथ ही टीकाकरण की अफवाहों को दूर किया।

मॉडरेटर सत्यपाल राजपूत जी द्वारा लोगों के सवाल जैसे टीकाकरण, गर्भवती महिला एवं रेमडेसीविर इंजेक्शन से संबंधित सवालों को डॉक्टर पिपरेजी तक पहुंचाया। डॉ पिपरे जी ने बताया कि वैक्सीन को लेकर जो अफवाह फैलाई जा रही है वह पूर्णता गलत है वैक्सिंग लगवाने से ना ही नपुंसकता आएगी और ना ही कोई साइड इफेक्ट होगा ना ही कोई मृत्यु होगी वैक्सीन लगने के बाद दो-तीन दिन तक बुखार शरीर में दर्द हो सकता है लेकिन उस से डरना नहीं है पेरासिटामोल टेबलेट ले सकते हैं आगे उन्होंने बताया कि यदि किसी को करो ना हो जाता है तो डरना नहीं है बल्कि उसका सामना डट कर करना है क्योंकि करो ना को पहले भी हराया जा चुका है मन में पॉजिटिव थॉट रखें और अपने रूटीन में हेल्दी डाइट ले व्यायाम ध्यान एवं योगा करें करें।

गर्भवती महिलाओं को यदि करो ना हो गया है और बच्चा जन्म ले लिया है तो दूध पिला सकती हैं इसका भी कोई साइड इफेक्ट बच्चे पर नहीं पड़ता और महिलाएं माहवारी के समय वैक्सीन लगवा सकती हैं साथ ही उन्होंने रेमडेसीविर इंजेक्शन के लिए भी जो अफवाह फैलाई जा रही है की करो ना मरीज को लगवाना अनिवार्य है अंत में उन्होंने कहा करो ना से जीता जा सकता है मास्क, सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें और लॉकडाउन के नियमों का भी पालन करने को कहा। कहां की जो दिमाग से जीत गया ,वह मान लो हर मुश्किल परिस्थितियों से जीत गया सीनियर जर्नलिस्ट श्री सत्यपाल सिंह राजपूत ने कहा कि प्रदेश के सभी नागरिकों को वैक्सीन लगवाने की अपील की और करो ना से डरना नहीं है करो ना को हराना है। लॉकडाउन के नियमों का पालन करें आपदा को अवसर में बदल सकते हैं सावधानी अपने हाथों में हैं।

अर्क वियत फाउंडेशन के संस्थापक विनय सोनवानी जी ने कहा इस महामारी में प्रत्येक आयु वर्ग मानसिक रूप से प्रभावित हो रहा है आज की जो दिनचर्या है वह पहले की दिनचर्या से बदली हुई है इस बदली दिनचर्या को पहले जैसे सामान्य करने की पहल करने के लिए अपनी सोच को बदलने की जरूरत है। फुलवारी शिक्षण समिति के संस्थापक श्री नितेश साहू जी द्वारा डॉक्टर पिपरेजी एवं उपस्थित सभी माननीयों का आभार व्यक्त किया और कहा आप परिवार के साथ रहे, परिवार के साथ समय बिताएं, मनोरंजन करें, अफवाहों से दूर रहे कोई भी संदेश है तो डॉक्टर से परामर्श लें मास्क, सैनिटाइजर इस्तेमाल करें और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें।

कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता विश्वविद्यालय के प्रोफेसर डॉक्टर शैलेंद्र खंडेलवाल जी, जिला संयोजक महासमुंद मालती तिवारी जी, ग्रीन आर्मी ऑफ रायपुर टाटीबंध जोन के प्रभारी श्री आशीष शर्मा जी, गुरुकुल महिला महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ संध्या गुप्ता जी विभिन्न महाविद्यालयों के एनएसएस प्रोग्राम ऑफिसर एवं वॉलिंटियर आशुतोष शुक्ला, कमलेश प्रजापति, दीपेंद्र बरमाते, मृणाली, आशा साव, पंकज कुश्मी,अमित बंजारे उपस्थित होकर कार्यक्रम को सफल बनाया यह कार्यक्रम श्रीमती रात्रि लहरी प्रोग्राम ऑफिसर गुरुकुल महिला महाविद्यालय के मार्गदर्शन में संपन्न किया गया।

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button