उत्तर प्रदेशराज्य

अयोध्या : अभेद्य सुरक्षा घेरे में कैद रामनगरी, मजिस्ट्रेटों की तैनाती

दर्शन करने पर कोई रोक नहीं, शांति व्यवस्था बनाए रखना लक्ष्य

अयोध्या :

अयोध्या में शांति व सुरक्षा के मद्देनजर प्रमुख स्थलों के साथ ही भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर मजिस्ट्रेटों की खास नजर रहेगी। मजिस्ट्रेटों की तैनाती कर सुरक्षा की कमान आरएएफ व पीएसी के हवाले कर दी गई है। विवादित ढांचा ढहाए जाने की तिथि 6 दिसंबर को लेकर रामनगरी को अभेद्य सुरक्षा घेरे में कैद कर दिया गया है।

जुड़वा नगरी के साथ-साथ देहात क्षेत्रों में भी सतर्कता बढ़ा दी गई है। अयोध्या में विवादित ढांचा ढहाए जाने की तिथि 6 दिसंबर पर बाबरी एक्श न कमेटी के यौम-ए-गम और विहिप के विजय दिवस सहित अन्य संगठनों द्वारा कार्यक्रम करने के एलान को लेकर जिले भर में अलर्ट घोषित कर दिया गया है। प्रशासन ने स्पष्ट किया है कि दर्शन-पूजन से कोई रोक नहीं है, लेकिन सुरक्षा व शांति से खिलवाड़ बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

6 दिसंबर को कई हिंदू संगठनों द्वारा किए गए आयोजनों के एलान को लेकर प्रशासन ने सख्ती बढ़ा दी है। रामजन्मभूमि की ओर जाने वाले मार्गों पर बैरियर कर पहरेदारी सख्त कर दी गई है। पुलिस महकमे ने राउंड द क्लॉक जांच व तलाशी का अभियान शुरू कर दिया है। रामनगरी समेत पूरे जिले में बुधवार को सघन तलाशी एवं चेकिंग अभियान चलाया गया।

सार्वजनिक स्थलों पर जांच व तलाशी का काम जारी है। सुरक्षा के मद्देनजर भारी तादात में पुलिस फोर्स की तैनाती की गई है। बम खोजी व निरोधी दस्ते व खुफिया महकमे के कर्मियों के साथ शहर में होटल,

धर्मशाला, लाज व रेस्टोरेंट तथा सार्वजनिक स्थलों की जांच व तलाशी का अभियान जारी है। एसएसपी योगेंद्र कुमार के निर्देशन में बुधवार दोपहर नयाघाट क्षेत्र में पुलिस टीम ने सघन चेकिंग एवं तलाशी अभियान चलाया।

नयाघाट बंधा तिराहा पर एसपीसिटी अनिल सिंह सिसौदिया, सीओ अयोध्या राजकुमार साव, कोतवाली प्रभारी जगदीश उपाध्याय ने तलाशी अभियान चलाकर वाहनों, श्रद्धालुओं के सामानों की जांच की गई। शाम को तुलसी स्मारक भवन में आला अधिकारियों ने बैठक कर सुरक्षा की ब्यूह रचना तैयार की।

एसपी सिटी अनिल सिंह ने बताया कि 6 दिसंबर के मद्देनजर रामनगरी की सुरक्षा को अभेद्य कर दिया गया है। डीजी मुख्यालय से काफी पुलिस बल मिला है। अयोध्या में दर्शन-पूजन से कोई रोक नही हैं, लेकिन शांति व्यवस्था से खिलवाड़ करने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। परंपरागत कार्यक्रमों के अतिरिक्त नए कार्यक्रम की अनुमति नहीं है।

जिले में पहले से ही धारा 144 लागू है। जोन व सेक्टर में बांटकर सुरक्षा की कमान मजिस्ट्रेटों के हवाले कर दी गई है। राउंड द क्लॉक चेकिंग अभियान चलाया जा रहा है। सुरक्षा के लिहाज से छह कंपनी पीएसी, दो कंपनी आरएफ, चार एडिशनल एसपी, 10 डिप्टी एसपी, 10 इंस्पेक्टर, 150 सब इंस्पेक्टर , 500 सिपाही सहित डाग स्कवॉयड, बम स्कवॉयड व खुफिया विभाग की टीमें लगाई गई हैं।

Summary
Review Date
Reviewed Item
अयोध्या : अभेद्य सुरक्षा घेरे में कैद रामनगरी, मजिस्ट्रेटों की तैनाती
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags