B’day special क्रिकेटर नहीं पुलिस में सिपाही बनना थे उमेश यादव

भारतीय क्रिकेट टीम के उभरते गेंदबाज उमेश यादव का आज यानि कि अक्टूबर को 25 जन्मदिन है। भारतीय टीम के तेज गेंदबाज है। अपनी गेंद से बल्लेबाजी के छक्के छुड़ाने वाले उमेश का क्रिकेट करियर शानदार है। ये घरेलू क्रिकेट में विदर्भ की तरफ से खेलते हैं और पहले ऐसे खिलाड़ी हैं जिसने टेस्ट क्रिकेट खेला है।

उमेश का जन्म
उमेश यादव आज भारतीय क्रिकेट टीम की गेंदबाजी की रीढ़ हैं। उमेश यादव मूल रूप से उत्तर प्रदेश के देवरिया के रहने वाले हैं। 25 अक्टूबर 1987 को उमेश का जन्म देवरिया में हुआ था। उमेश यादव के पिता उत्तरप्रदेश के रहने वाले थे। वह नागपुर के निकट खापरखेड़ा की वेस्टर्न कोल लिमिटिड की कॉलोनी में रहते थे। वह कोयला खदान में काम करते थे। यहीं पर उमेश की परवरिश हुई।

सेना और पुलिस में काम करना चाहते थे
उमेश यादव घरेलू क्रिकेट में विदर्भ की तरफ से खेलते हैं विदर्भ के पहले खिलाड़ी हैं जिसने टेस्ट क्रिकेट खेला है। अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत से पहले उमेश यादव ने सेना और पुलिस में नौकरी पाने की कोशिश की थी। वह सेना और पुलिस में सिपाही बनना चाहते थे।

16 अप्रैल 2013 में शादी के बंधन में बधें
निजी जिंदगी में गौर करें तो इनके पिता उत्तरप्रदेश के एक गांव में कोयले की खदान में काम करते थे जबकि उमेश की परवरिश नागपुर के पास एक गांव में हुई और 16 अप्रैल 2013 को उमेश यादव ने दिल्ली में रहने वाली फैशन डिजाइनर तान्या वाधवा से शादी की जो काफी खूबसूरत है।

टेनिस बॉल के साथ खेलते थे उमेश
उमेश यादव ने क्रिकेट करियर की शुरुआत से पहले सेना और पुलिस में नौकरी पाने की कोशिश की थी उसके बाद क्रिकेट में अपना करियर बनाया और विदर्भ की टीम में शामिल हुए। विदर्भ की टीम में शामिल होने के बाद उमेश यादव ने पहली बार लेदर की गेंद से गेंदबाजी की। इसके पहले वह टेनिस बॉल से खेलते थे। विदर्भ की टीम को घरेलू क्रिकेट में एक पिछड़ी हुई टीम के तौर पर जाना जाता है और इसी वजह से इस टीम के कप्तान प्रीतम गंधे ने उमेश यादव में छुपी हुई क्षमताओं को पहचान कर उनके करियर को आगे बढ़ाने में खास रुचि ली।

उमेश की गेंदबाजी

उमेश 140 किलोमीटर की रफ्तार से लगातार गेंद फेंकने की क्षमता रखते हैं. इन स्विंग और आउट स्विंग के साथ बाउंसर फेंकने पर उनकी पकड़ है. उनकी इसी खासियत ने 2008-09 में विदर्भ के लिए पदार्पण करने के साथ ही उन्हें केवल चार मैच में 14.60 की औसत से 20 विकेट दिला गया. उन्होंने दिलीप ट्रॉफी में राहुल द्रविड़ और वीवीएस लक्ष्मण सरीखे बल्लेबाजों के खिलाफ बढ़िया गेंदबाजी करके पहचान हासिल की।

क्रिकेट करियर
उमेश के क्रिकेट करियर की बात करें तो अब तक 34 टेस्ट मैच खेलें, जिसमें इन्होंने 220 रन बनाए और 94 विकेट हासिल किए और वहीं वनडे मैच की बात करें तो 71 मैचों में 102 विकेट हासिल किए और आईपीएल में इन्होंने 94 मैचों में 91 विकेट हासिल किए।

1
Back to top button