भांग को कानूनी मान्यता देने के पक्ष में बाबा रामदेव

बाबा रामदेव की आयुर्वेदिक कंपनी पतंजलि के मुख्य कार्यकारी आचार्य बालकृष्ण ने भांग को भारत में वैध करने की मांग उठाई। उनके अनुसार औषधी के रूप में इसका इस्तेमान काफी लाभकारी है। Quartz को दिए एक इंटरव्यू में बालकृष्ण ने कहा कि प्राचीन काल से आयुर्वेद में भांग का इस्तेमाल होता रहा है ऐसे में इसे वैध करने पर विचार करना चाहिए। उन्होंने कहा कि 200 वैज्ञानिकों की एक टीम विभिन्न स्वदेशी भारतीय पौधों और भांग के औषधीय मूल्य को खोजने की कोशिश कर रही है।

भांग के गिनाए फायदे : आचार्य ने भांग के फायदे को गिनाते हुए कहा कि पश्चिमी बाजार में इसका इस्तेमाल काफी लंबे समय से होता रहा है। भांग के पौधों के कुछ हिस्सों को कपड़े या कुछ प्रकार के तेलों के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि हम भी इसी तरह का शोध कर रहे हैं जिससे कि हानिकारक या मादक पदार्थों को हटाकर इसका इस्तेमाल किया जा सके। हालांकि इस बात का ध्यान रखना होगा भारत में भांग अवैध है।

कई रोगों के उपचार के लिए लाभकारी : 2015 में ब्रिस्टल विश्वविद्यालय द्वारा किए गए शोध में दावा किया गया था कि भांग का इस्तेमाल औषधी के रूप में काफी लाभकारी है। इसमें एचआईवी पॉजिटिव, डिप्रेशन, मनोविकृति जैसे रोगों के उपचार की क्षमता होती है। बता दें कि आचार्य बालकृष्ण इससे पहले भी भांग के स्वास्थ्य लाभ के बारे में लोगों को जागरूक करते रहे हैं। वहीं सोशल मीडिया पर भी भांग को लेकर बहस छिड़ गई है जहां ​कई लोग आचार्य के इस बयान का ​विरोध कर रहे हैं तो वहीं कई इसके समर्थन में उतर आए हैं।

Back to top button