खेलबिज़नेसराष्ट्रीय

आईपीएल 2020 की स्पॉन्सरशिप के लिए बाबा रामदेव की पतंजलि ने दिखाई रूचि

वीवो के साथ खत्म हुई डील को गांगुली ने सिर्फ एक 'झपकी' बताया

नई दिल्ली: योग गुरु बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि आईपीएल 2020 की स्पॉन्सरशिप के लिए बोली लगाने पर विचार कर रही हैं. दरअसल चीनी मोबाइल फोन निर्माता कंपनी वीवो के हटने के बाद आईपीएल 2020 की स्पॉन्सरशिप के लिए पतंजलि ने रूचि दिखाई.

पंतजलि के प्रवक्ता एसके तिजारावाला ने एक बयान में कहा, “हम इस साल आईपीएल की टाइटल स्पॉन्सरशिप के बारे में सोच रहे हैं, ताकि पतंजलि को ग्लोबल मार्केट मिल सके.” कंपनी बीसीसीआई को प्रस्ताव भेजने की तैयारी कर रही है.

बीसीसीआई और वीवो ने गुरुवार को संयुक्त अरब अमीरात में 19 सितंबर से शुरू होने वाले 2020 आईपीएल के लिए अपनी पार्टनरशिप कैंसिल करने का फैसला किया था, ताकि चीन-भारत सीमा तनाव के मद्देनजर चीनी उत्पादों का बहिष्कार किया जा सके. वीवो ने 2018 से 2022 तक 2190 करोड़ रुपये की अनुमानित राशि, यानी कि 440 करोड़ रुपये प्रतिवर्ष के लिए आईपीएल का टाइटल का अधिकार जीता था.

BCCI के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने चीनी मोबाइल फोन कंपनी वीवो के साथ आईपीएल टाइटल स्पॉन्सरशिप डील के निलंबन को सिर्फ एक ‘झपकी’ बताया है. उन्होंने कहा, ‘मैं इसे वित्तीय संकट नहीं कहूंगा.’

गांगुली ने शनिवार को एक वेबिनार के दौरान शैक्षिक पुस्तक प्रकाशकों एस चंद ग्रुप द्वारा आयोजित कार्यक्रम के दौरान कहा कि यह थोड़ा धूमिल है. बीसीसीआई, यह एक बहुत मजबूत नींव है – खेल, खिलाड़ी, अतीत में प्रशासकों ने इस खेल को इतना मजबूत बना दिया है कि बीसीसीआई को ऐसी डील्स से टूटने पर कोई फर्क नहीं पड़ने वाला है और इस तरह की स्थितियां संभालने के लिए बोर्ड पूरी तरह सक्षम है.

पूर्व भारतीय कप्तान ने आगे कहा कि, आप अपने अन्य विकल्प खुले रखते हैं. यह प्लान ए और प्लान बी की तरह है. समझदार लोग इसे करते हैं. समझदार ब्रांड इसे करते हैं. समझदार कॉरपोरेट्स इसे करते हैं.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button