बाबू अखिलेश यादव जी, आप से न हो पाएगा सड़क पर संघर्ष: पप्पू यादव

जन अधिकार पार्टी के मुखिया पप्पू यादव ने अखिलेश यादव पर निशाना साधा

लखनऊ:उत्तर प्रदेश में ब्लॉक प्रमुख चुनाव में हुई हिंसा को लेकर पूर्व सांसद व जन अधिकार पार्टी के मुखिया पप्पू यादव योगी सरकार से ज्यादा समाजवादी पार्टी(सपा) सुप्रीमो अखिलेश यादव पर नाराज दिखे. उन्होंने कहा कि ‘बाबू अखिलेश यादव जी, आप से न हो पाएगा सड़क पर संघर्ष.’

दरअसल उत्तर प्रदेश में ब्लॉक प्रमुख चुनाव की नामांकन प्रक्रिया में 15 से ज्यादा जिलों में गोली चलने, बम चलने, मारपीट की हिंसक घटनाएं सामने आईं. इन घटनाओं को लेकर जहां विपक्ष योगी सरकार पर हमलावर है तो वहीं जन अधिकार पार्टी के मुखिया पप्पू यादव ने सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव पर निशाना साधा है.

पप्पू यादव का ट्वीट

पप्पू यादव ने अपने ट्वीट में लिखा, “बाबू अखिलेश यादव जी, आप से न हो पाएगा, सड़क पर संघर्ष! इतनी बड़ी पार्टी, इतना संसाधन हो तो BJP वालों की गुंडई और ढोंगी के दुःशासन का होश ठिकाने लगा देता! एक बहन का बीच सड़क पर चीरहरण और आप आराम से बैठे हो! जेल से निकलता हूं, संघर्ष के लिए पार्टी आउटसोर्स कर दीजिएगा! फिर दिखाते हैं.”

ब्लॉक प्रमुख चुनाव में हुई कई जिलों में हिंसा

उत्तर प्रदेश में ब्लॉक प्रमुख चुनाव के नामांकन के दौरान कल कई जिलों में हिंसा हुई. इस दौरान कई जगह पथराव किया गया. गोलीबारी और बमबाजी की खबरें भी आईं. पार्टी कार्यकर्ताओं पर हमला हुआ. इतना सब होने के बाद बावजूद सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव सिर्फ ट्वीट करते रहे, इसी को लेकर पप्पू यादव काफी नाराज हैं. उनका कहना है कि अखिलेश को सड़क पर उतरकर संघर्ष करना चाहिए.

लखीमपुर खीरी में महिला प्रस्तावक के कपड़े फाड़े!

ब्लॉक प्रमुख चुनाव के नामांकन के दौरान लखीमपुर खीरी जिले में महिला प्रस्तावक के कपड़े फाड़े गए. पसगवां ब्लॉक की सपा प्रत्याशी रितु सिंह ने आरोप लगाया कि बीजेपी कार्यकर्ताओं ने उनकी महिला प्रस्तावक के साथ बदसलूकी की और उनके कपड़े तक फाड़ दिए. यह घटना तब हुई जब वह नामांकन पत्र दाखिल करने जा रही थीं, उनका नामांकन पत्र छीनकर फाड़ दिया गया. इस घटना का जिक्र पप्पू यादव ने अपने ट्वीट में किया है.

कहां- कहां हुई हिंसा..?

फतेहपुर- यूपी के फतेहपुर में बीजेपी के समर्थक, विरोधी उम्मीदवार के प्रस्ताव को पुलिस के सामने ही खींचकर बाहर ले जाते हुए दिखे. इस दौरान पुलिस मूकदर्शक बनी खड़ी रही. पुलिस के सामने टहलते हुए जाता शख्स असलहा यानी पिस्टल रखे हुए था.

ललितपुर- ललितपुर में जैसे ही विरोधी दल का उम्मीदवार नामांकन करने को आगे बढ़ता है, नॉमिनेशन करने से रोकने की कोशिश होती है. निर्दलीय प्रत्याशी का पर्चा छीनने का आरोप बीजेपी समर्थकों पर लगता है. हालांकि, पुलिस के अफसर दलील देते हैं कि सुरक्षा व्यवस्था सख्त है और पुलिस दोषियों पर कार्रवाई करेगी.

झांसी- यहां ब्लॉक प्रमुख के चुनाव में सपा और बीजेपी समर्थकों के बीच पत्थर चलने लगे, हालत ये हो गए कि महिला प्रत्याशी को समर्थक सुरक्षा घेरे में नामांकन भराने को ले जाते दिखे.
एटा- यहां नामांकन के दौरान पत्थरबाजी की नौबत आ गई.

आरोप है कि बीजेपी कार्यकर्ताओं ने समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार को नामांकन नहीं करने दिया. दोनों पक्ष भिड़ गए. पुलिस के सामने जमकर पत्थरबाजी में आजतक संवाददाता जख्मी हो गए.

महराजगंज- जिले के सदर ब्लाक में बीजेपी से टिकट नहीं मिलने पर ड़िला निवासी जयप्रकाश उर्फ साधु गुप्ता ने चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया. जैसे ही प्रतिद्वंदी अनीता पत्नी जयप्रकाश नामांकन करने ब्लाक गेट पर पहुंची वैसे ही हंगामा शुरू हो गया, लेकिन धक्का-मुक्की व हंगामा पर विरोधी बीजेपी समर्थकों पर भारी पड़े.

सिद्धार्थनगर- जिले के इटवा ब्लॉक पर नामांकन के दौरान जमकर हंगामा हुआ. प्रदेश के पूर्व विधानसभा अध्यक्ष माता प्रसाद पांडेय अपनी पत्नी का नामांकन करने पहुंचे थे, लेकिन कुछ अराजक तत्वों ने उनसे पर्चा छीन कर फाड़ दिया. आरोप बीजेपी नेताओं पर लगा. वहीं गोरखपुर में बीजेपी प्रत्याशी की कार पर हमला करने का आरोप समाजवादी समर्थकों पर लगा.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button