बदमाशों ने रिटायर्ड पुलिसकर्मी की पत्नी से की 50 लाख रुपए की ठगी

रायपुर। छत्तीसगढ़ में ठगों के हौसले इस कदर बुलंद हो गए हैं कि पुलिस वालों को ही अपना शिकार बना रहे हैं। दरअसल, रायपुर में एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसमें ठगों ने कम कीमत में जमीन दिलाने के नाम पर रिटायर्ड पुलिसकर्मी की पत्नी से 50 लाख रुपए की ठगी कर ली। इसके बाद आरोपियों ने न तो जमीन दिलाई और न ही पैसे वापस किए। पीड़िता ने आरोपियों के खिलाफ सिविल लाइन थाने में शिकायत दी है।

सिविल लाइन पुलिस के अनुसार लखनऊ में रहने वाली 67 वर्षीय पीड़िता भूरी देवी यादव ने रायपुर निवासी हरीश किशनदास छाबड़िया और ओम प्रकाश के खिलाफ शिकायत दी है। शिकायत में पीडि़ता ने बताया कि जनवरी 2013 में मंदिर हसौद इलाके में आरोपियों ने 20 एकड़ का प्लॉट दिखाया था। जमीन पसंद आई तो आरोपियों ने 56 लाख में सौदा तय किया।

आरोपियों ने एग्रीमेंट कर 11 फरवरी 2013 को सिविल लाइन थाना क्षेत्र स्थित वर्मा नर्सिंग होम में एडवांस के तौर पर 50 लाख रुपए ले लिए। पैसे लेने के बाद पीड़िता ने जब रजिस्ट्री के लिए कहा तो आरोपी टालते रहे। पीड़िता ने पैसे वापस मांगे तो आरोपियों ने 15 लाख और 20 लाख के दो चेक दिए और शेष रकम कुछ दिनों बाद देने की बात कही। चेक बैंक में लगाया तो वो बाउंस हो गया।

पीड़िता ने सिविल लाइन थाने में इसकी मौखिक शिकायत की थी। रायपुर पुलिस द्वारा जमीन के नाम पर धोखाधड़ी करने वालों पर कार्रवाई करने की सूचना जैसे मिली पीड़िता ने दोबारा जनवरी महीने में एसपी कार्यालय पहुंचकर शिकायत की। एसपी के निर्देश पर सिविल लाइन पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर उनकी तलाश शुरू कर दी है।

आरोपियों ने सड़क हादसे की साजिश रची

पीड़िता ने पुलिस को दिए हुए बयान में कहा कि 2003 में उसके पति श्यामदेव सिंह यादव एसपी ऑफिस से रिटायर्ड हुए थे। ग्रेच्युटी के जो पैसे मिले, उसे उन्होंने बैंक में जमा करवा दिया। उसी पैसे की आरोपियों ने जमीन दिलाने के नाम पर ठगी की है।

लगातार पैसे मांगने पर आरोपी धमकी देने लगे और दो वर्ष पहले उन लोगों ने पीड़िता की सड़क हादसा करवाने की कोशिश की। आरोपियों की इस हरकत से वे डर गई और परिवार के साथ लखनऊ शिफ्ट हो गई। पुलिस द्वारा ठगों के खिलाफ अभियान चलाकर कार्रवाई करने की सूचना कुछ रिश्तेदारों से मिलने पर वे रायपुर पहुंची और आरोपियों के खिलाफ वरिष्ठ अधिकारियों के पास शिकायत की।

Back to top button