छत्तीसगढ़

सशक्त महिलाएं बनाएंगी मजबूत देश – बाफना

सरकार की मंशा हर महिला हो काम से आत्मनिर्भर
अभिनंदन पार्क में हुआ महिला सशक्तिकरण कार्यशाला
डेढ़ हजार महिलाओं को बताया गया मौलिक अधिकार

–अनुराग शुक्ला

जगदलपुर . वैसे तो महिलायें स्वयं अपने आप में सशक्त हैं, किन्तु काम की दृष्टी से अपने को नि:सहाय समझती है। इसी उद्देश्य को लेकर महिलाओं से संबंधित तमाम योजनाओं को उनके सामने रख उन्हें, इस बात से भलीभांति अवगत कराना कि प्रदेश की मुखिया डॉ. रमन सिंह क्षेत्र की महिलाओं के प्रति कितने सवेंदनशील हैं, जिन्होंनें जागृति लाने की दिशा में काम का पिटारा खोल रखा है, किन्तु जानकारी के अभाव में महिलाओं के बीच संदेह की स्थिति है।

उक्ताशय विधायक संतोष बाफना ने महिला सशक्तिकरण कार्यशाला में महिला समूहों को संबोधन में व्यक्त किये। कार्यशाला को शरद अवस्थी, लच्छुराम कश्यप, किरण देव, राजेन्द्र बाजपेयी, जबीता मंडावी, शेषनारायण तिवारी, दिप्ती पाण्डे ने भी संबोधित किया। सभी ने कहा कि जहाँ नारी की पूजा होती है, वहाँ ईश्वर का भी वास होता है। इसलिए हर क्षेत्र में अलग-अलग रूप में अपने दायित्वों का निर्वहन करती हैं। नारी जग की जननी है हर रूप में उसकी पूजा होती है।

कार्यशाला में जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र, मतस्य विभाग, पशुपालन विभाग, महिला बाल विकास विभाग, महिला अधीकार संरक्षण विभाग, रेशम विभाग, महिला केन्द्र, के अधीकारी/कर्मचारी भी उपस्थित थे, जिन्होंने महिलाओं को आर्थिक रूप से सम्पन्न बनाने विभाग की और से संचालित कई प्रमुख योजनाओं की जानकारी प्रदान की। कार्यक्रम दो सत्रों में सम्पन्न हुआ जिसके पहले सत्र में समूह से जुडी महिलाओं का अभिनंदन पश्चात, उदबोधन और विभागों से संचालित महिलाओं के लिए योजनाओं से संबधित जानकारी देना और फिर दुसरे सत्र में रक्षाबंधन महोत्सव के रूप में मनाया जा रहा महिला सशक्तिकरण कार्यशाला में रक्षासुत्र बांधा गया।

श्री बाफना ने यह भी बताया कि ग्रामिण क्षेत्रों के 14 सेंक्टरों में भी महिलाओं को जागृत करने की दिशा में महिला सशक्तिकरण कार्यशाला व रक्षाबंधन महोत्सव को विधानसभा में मनाया जाएगा। आज महिलायें इतनी सशक्त है कि हर क्षेत्र में महिलायें, अग्रसर है। किराना से लेकर बाजार के क्षेत्र तक उद्योग से लेकर राजनिती तक हर सफर में महिलायें तेजी से आगे बढ़ रही है। इसलिए महिलायें अपने को कमजोर न समझें। भाजपा की ऐसी सोच है कि महिलायें जितनी सशक्त होगी देश और राज्य उतनी ही मजबूत होगी। आने वाले दिनों में महिला सशक्तिकरण की दिशा में महिला सम्मेलन में एक लाख महिलाओं को मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह संबोधित करेगें, इसकी रूप रेखा तैयार की जा रही है।

कार्यक्रम में श्रीमती उज्जवला बाफना, श्रीधर ओझा, रामाश्रय सिंह, सुरेश गुप्ता, दिपक त्रीवेदी, बी.जय राम, अंजू राय, गोदावरी साहू, अनिता श्रीवास्तव, प्रमीला कपूर, बीजली बैध, सूधा मिश्रा, कविता पाढी, रोशन सीसोदिया, आनंद मोहन मिश्रा, श्रीनिवास मिश्रा, वेदान्त दिक्षीत, संतोष त्रीपाठी, रूपसिंह मण्डावी, आदि गणमान्य सहित वार्डप्रभारी उपस्थित थे।

Back to top button