बिटिया की टूट गई शादी, पिता गया दहेज का सामान मांगने तो समधी-समधन और दामाद ने दी मौत

पटना। बिटिया की शादी टूटने के बाद दहेज का सामान मांगने गए पिता को समधी-समधन व दामाद ने टांगी और लाठी-डंडे से प्रहार कर मौत के घाट उतार दिया। धूप में साढ़े 3 घंटे तक पड़े होने से उसकी मौके पर ही मौत हो गई। सूचना पर पुलिस ने आरोपी सास-ससुर व दामाद को गिरफ्तार कर लिया है।

कोरिया जिले के पटना थाना प्रभारी रविंद्र कुमार अनंत के अनुसार ग्राम शिवप्रसाद नगर गढ़ीपारा सूरजपुर निवासी मटल्लू साहू पिता स्व. रामप्रसाद साहू ने पुलिस को बताया कि 27 अप्रैल को वह अपने मित्र बबलू के साथ शिवप्रसादनगर रेलवे स्टेशन पर बैठा था।

सुबह करीब 10 बजे ग्राम बंजा सूरजपुर निवासी अंबिका साहू वहां आया और बोला कि कोरिया जिला के ग्राम कसरा में मेरे समधी शिवनारायण के यहां चलना है। इसके बाद वह बबलू की बाइक में बैठ गया।

इधर अंबिका साहू अपनी बाइक से कसरा छत्तासरइ पहुंच गए। दोपहर में अंबिका साहू अपने समधी शिवनारायण साहू व दामाद सूरज को बोला कि मैंने दहेज में अपनी लड़की को सामान दिया है, उसे वापस कर दीजिए, मेरी लड़की अपना अलग घर बसा ली है। यह बात सुनकर दामाद आक्रोशित होकर बोला कि मेरा दिया मंगल सूत्र वापस करो, तब तुम्हारा सामान को वापस करूंगा।

इसी बात को लेकर अंबिका साहू और शिवनारायण, सूरज का आपस में विवाद होने लगा। इसके बाद हम लोग घर के बाहर निकल गए थे। इसी बीच हमारे पीछे ही अंबिका घर से निकलकर रोड पर पहुंचा था। अचानक दामाद सूरज टांगी लेकर बाहर निकला और अंबिका के ऊपर हमला कर दिया, जिससे अंबिका वहीं पर गिर गया था।

इसी बीच समधी शिवनारायण डण्डा व सूरज टांगी को रखकर लकड़ी के बत्ता से अंबिका को मारने लगे। महिला सूरज की मां हाथ-मुक्का से मारपीट करने लगी थी। हम बीच-बचाव के लिए दौड़े तो हमे भी डण्डा व लकड़ी का बत्ता से मारा गया। इसके बाद मेरा साथी बबलू मुझे तुरंत उठाकर वहां से कुछ दूर ले गया और भयभीत होकर मुझे अपनी गाड़ी में बैठाकर लाया है।

मारपीट करने से अंबिका का घटना स्थल पर मौत हो गई है। प्रार्थी की रिपोर्ट पर पटना पुलिस ने आरोपी दामाद सूरज, मृतक का समधी-समधन शिवनारायण व जानकी के खिलाफ धारा 302, 34 के तहत अपराध दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है।

साढ़े तीन घंटे तक चिलचिलाती धूप में खून से लथपथ पड़ा रहा

शनिवार दोपहर करीब 12 बजे ससुराल व मायके पक्ष के बीच विवाद हुआ था। इस दौरान ससुराल पक्ष के तीन आरोपी ने लकड़ी के पिता को दौड़ा-दौड़कर टांगी-डण्डा से बेरहमी से मारा। इसके बाद करीब साढ़े तीन घंटे तक खून से लथपथ चिलचिलाती धूप में वह बाहर पड़ा था। करीब 3.30 बजे गांव के चौकीदार ने पटना पुलिस को सूचना दी।

मामले में तत्काल पटना पुलिस पहुंचकर गंभीर अवस्था में पड़े लड़की के पिता को सामुदायिक स्वास्थ्य पटना पहुंचाया, लेकिन अस्पताल के डॉक्टर्स ने मृत घोषित कर दिया।

17 महीने ही चली शादी, पंचायत-सामाजिक बैठक में दी गई थी समझाइश

सूरजपुर के बंजा निवासी अम्बिका साहू (45) की पुत्री की शादी कोरिया के ग्राम पंचायत कसरा के छत्तासरई निवासी शिव नारायण साहू के बेटे सूरज साहू के साथ करीब डेढ़ साल पहले हुई थी। इससे पूर्व दामाद ने पहली पत्नी को छोड़ दिया था। दूसरी पत्नी के साथ भी सूरज मारपीट करता था। इसके बाद पंचायत व सामाजिक बैठक बुलाकर उसे समझाइश दी गई थी।

वहीं पंचायत की भरी सभा में आरोपी दामाद ने अपनी पत्नी के गले से मंगलसूत्र अपने पास रख लिया था। करीब एक सप्ताह के बाद दोबारा मारपीट करने लगा। इसके बाद पत्नी जैसे-तैसे अपनी जान बचाकर भागी और सरपंच के घर चली गई थी। घटना के दो दिन बाद मायके पक्ष के लोग आकर अपने घर ले गए थे। मामले में दुखी लड़की के माता-पिता ने दोबारा अपनी लाडली को ससुराल नहीं भेजा।

Back to top button