छत्तीसगढ़

बलौदाबाजार अपनी बेगुनाही का सबूत देता रहा शिक्षक फिर भी एसडीएम ने की बदसलूकी

- आलोक मिश्रा

बलौदा बाजार: शिक्षक की शिकायत करने पर एसडीएम ने शिक्षक पर शराब पीकर ड्यूटी करने का आरोप लगाया है इसे लेकर शिक्षक संघ और एसडीएम के बीच कहासुनी भी हुई मामला तूल पकड़ने पर एसडीएम ने सबके सामने मांगी माफी.

बलौदा बाजार :- जिले के कसडोल तहसील कार्यालय में शिक्षक संघ और एसडीएम के बीच कहासुनी मामले ने तूल पकड़ लिया है मामला गुरुवार दोपहर का है जब एसडीएम कसडोल ने गिधौरी हाई स्कूल में जाति निवास प्रमाण पत्र का निरीक्षण करते हुए गिधौरी पहुंचे. इस दौरान एक शिक्षक ने नए जाति प्रमाण पत्र बनाने में आ रही दिक्कतों को लेकर शिकायत की इस पर एसडीएम कसडोल ने परेशानी को दूर करने की बजाए शिक्षक पर ही बरस पड़े शिक्षक की शिकायत करने पर एसडीएम ने शिक्षक पर शराब पीकर ड्यूटी करने का आरोप लगा दिया साथ ही जेल में डालने की बात भी कहते हुए उसे अपनी गाड़ी में बैठा कर निकल गए तभी शिक्षक ने अपने अधिकारियों और शिक्षक संघ को फोन लगाना चाहा तो एसडीएम ने उसका मोबाइल छीन लिया शिक्षक रास्ते भर अपने बेकसूर होने की बात कहता रहा लेकिन एसडीएम नहीं माने.

शिक्षक ने अपने संघ को सुनाई आपबीती

जब एसडीएम को अपनी गलती और शिक्षक के शराब नहीं पीने का एहसास हुआ तो उन्होंने शिक्षक को बीच रास्ते में ही छोड़ कर कसडोल चले गए बाद में पीड़ित शिक्षक प्रमोद साहू ने कसडोल ब्लाक के तमाम शिक्षक संघ के पदाधिकारियों को अपनी आपबीती बताई.

एसडीएम ने सभी से माफी मांग कर खेद जताया

इस घटना से नाराज शिक्षकों ने एसडीएम कार्यालय के सामने घंटों धरना दिया शिक्षक बार बार एसडीएम को बाहर बुलाने की बात कह रहे थे लेकिन काफी देर तक कोई भी अधिकारी बाहर नहीं आया जिसके बाद एसडीएम कार्यालय के बाहर भारी मात्रा में पुलिस बल बुलाना पड़ गया इसके बाद शिक्षकों ने एसडीएम को शिक्षक के बेकसूर होने की बात कहते हुए काफी खरी-खोटी सुनाई जिस पर एसडीएम कसडोल ने खेद जताते हुए अपने हुए व्यवहार के लिए माफी भी मांगी तब जाकर मामला शांत हुआ वही इस धरने के चलते पूरा परिसर पुलिस छावनी में तब्दील हो गया था.

Tags
Back to top button