बाला साहब का स्टैंड क्लियर, घुसपैठियों को देश से निकालना चाहिए: उद्धव ठाकरे

मुंबई: शिवसेना के मुखपत्र सामना को इंटरव्यू देते हुए महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बांग्लादेशी और पाकिस्तानी घुसपैठियों को लेकर कहा कि बाला साहब का स्टैंड क्लियर है. इन घुसपैठियों को देश से निकालना चाहिए.

उन्होंने कहा कि घुसपैठिये, घुसपैठिये ही होते हैं. उन्हें ‘पद्म’ पुरस्कारों से सम्मानित नहीं किया जा सकता. मूलरूप से घुसपैठियों को भगाओ, यह नीति बालासाहेब की है. भाजपा बेवजह इलका श्रेय न ले.

उन्हें किसने रोका है? उन्होंने एक अखबार में नोटबंदी पर छपे संपादकीय का जिक्र करते हुए कहा कि नोटबंदी करने के पीछे उस समय एक कारण बताया गया था, वह था नकली नोटों का. पूरी अर्थव्यवस्था में कितने फीसदी नकली नोट थे? कुछ फीसदी होंगे.

लेकिन उस कुछ फीसदी के लिए आपने पूरे प्रचलित नोटों को कागज का टुकड़ा बना दिया. ठीक उसी तरह कुछ फीसदी घुसपैठियों के लिए पूरे देश को कतार में खड़ा कर रहे हैं. मुझे ऐसा लगता है कि इस सरकार की एक अजीबो-गरीब नीति है. हमेशा आपको तनाव में रखने की.

उद्धव ठाकरे का कहना है कि CAA किसी की नागरिकता नहीं छीनता इसलिए हमें उससे कोई दिक्कत नहीं है लेकिन महाराष्ट्र में NRC कानून को लागू नहीं होने दिया जाएगा. महाविकास अघाड़ी की सरकार के मुखिया उद्धव ठाकरे ने एक बार फिर हिंदुत्व का नारा बुलंद किया है.

इंटरव्यू में उद्धव ठाकरे ने साफ कहा है कि शिवसेना ने हिंदुत्व की अपनी विचारधारा को छोड़ा नहीं है और ना ही उससे कोई समझौता किया है. सामना के संपादक संजय राउत को दिए इंटरव्यू में उद्धव ठाकरे ने कहा, ‘हमने हिंदुत्व नहीं छोडा है, गठबंधन किया है इसका मतलब ये नहीं कि हमने धर्म बदल लिया है.’

Tags
Back to top button