बलौदा बाजार कलेक्टर ने किया ग्रामीण स्कूलों और आंगनबाड़ी केन्द्रों का निरीक्षण

प्रतिदिन स्कूली बच्चों को दें पापड़ और अचार इसके साथ स्कूलों को अतिक्रमण मुक्त कराने दिए निर्देश

आलोक मिश्रा

बलौदाबाजार। कलेक्टर कार्तिकेया गोयल ने आज गांव मोहतरा, चांटीपाली और गोरधा का दौरा किया। इनके साथ कसडोल विकासखण्ड सीईओ एस.जयवर्धन भी थे। कलेक्टर ने इन गांवों के संचालित स्कूल और आंगनबाड़ी केन्द्रों का आकस्मिक निरीक्षण किया। निरीक्षण में उन्होंने मध्यान्ह भोजन से लेकर कई कार्यों की विस्तृत जानकारी ली।

इसके साथ स्कूलों में होने वाले मध्यान्ह भोजन में पापड़ और अचार प्रतिदिन अनिवार्य रूप से परोसने के निर्देश दिए। स्कूल के रसोईघर पहुंचकर उन्होंने भोजन की गुणवत्ता की जांच की। बच्चों को स्वादिष्ट और पौष्टिक भोजन देने पर जोर दिया।

कलेक्टर ने पूरे जिले में स्कूल परिसरों को अतिक्रमण मुक्त कराने के निर्देश दिए। उन्होंने राजस्व अधिकारियों को अभियान चलाकर इनके सीमाकंन का आदेश दिया। पंचायत को इनका घेराव करने के दिशानिर्देश जारी किए।

स्कूल शौचालयों में ताले लगने पर कलेक्टर ने जताई नाराजगी

कलेक्टर गोयल ने पढ़ाई के दौरान स्कूल शौचालयों में ताले लगे होने पर गहरी नाराजगी जताई। ये ताला मोहतरा हाई स्कूल में जड़ा हुआ पाया गया। उन्होंने कहा कि स्कूल खुलने के साथ ही शौचालय के दरवाजे भी इस्तेमाल के लिए खुल जाने चाहिए। शौचालयों के प्रतिदिन साफ-सफाई कराए जाने के सख्त निर्देश दिए।

दसवीं के छात्रों से वर्नियर कैलिपर्स और स्कू्र गैज का कराया उपयोग

डीएमएफ फण्ड से दिए गए लैब सामग्री का अवलोकन किया।दसवीं के छात्रों से वर्नियर कैलिपर्स और स्कू्र गैज का प्रयोग कराया। शिक्षकों से कहा कि बच्चों के प्रेक्टिकल ज्ञान पर ज्यादा फोकस करें। प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए दिए गए सामग्री का नियमित अभ्यास करने की समझाईश बच्चों को दी।

कलेक्टर ने समीर और लता से पूछे सवाल

चांटीपाली स्कूल में कलेक्टर ने कक्षा तीसरी के छात्र समीर और लता से कुछ सवाल पूछकर पढ़ाई का स्तर जाना। बच्चों ने बेहिचक कुछ कविता सुनाएं और उनके सवाल के जवाब भी बताए। गोयल ने कहा बच्चों को नए यूनिफार्म में आने को कहा जाए। राज्य सरकार द्वारा उन्हें दो जोड़ी यूनिफार्म प्रदान किए गए हैं। पुराने यूनिफार्म का इस्तेमाल घर में किया जाए।

पांच साल के बच्चे प्रेम का कराया वजन और नापी ऊंचाई

कलेक्टर ने मोहतरा की आंगनबाड़ी में आयोजित वजन त्योहार में भी हिस्सा लिया। उन्होंने अपने सामने गांव के पांच साल के बच्चे प्रेम का वजन और ऊंचाई का नाप भी कराया। बच्चों के लिए बनाए जा रहे विशेष गरम भोजन का भी जायजा लिया।

विजय लक्ष्मी स्व सहायता समूह द्वारा की महिलाओं को भोजन बनाने का जिम्मा सौंपा गया है। उन्होंने स्कूल में शिक्षकों की उपस्थिति पंजी का भी अवलोकन किया। उन्होंने पंजी में उपस्थिति के लिए धन अथवा ऋण का चिन्ह लगाने पर एतराज जताया।

बायोमेट्रिक उपस्थिति की भी जानकारी ली

उन्होंने कहा कि इसके लिए अंग्रेजी के अक्षर पी अथवा ए का उपयोग किया जाए। उन्होंने उपस्थिति के लिए बायोमेट्रिक उपस्थिति की भी जानकारी ली। नन्हें बच्चों को पढ़ाने के लिए सम्पर्क कीट का अधिकाधिक उपयोग करने की सलाह दी। कसडोल के एसडीएम प्रकाश राजपूत और सहायक संचालक शिक्षा तिवारी भी इस दौरे में साथ थे।

Back to top button