बलौदाबाजार : वैक्सीन का पहला डोज पर्याप्त नही,समय पर लगवाएं दूसरा डोज- कलेक्टर

कलेक्टर सुनील कुमार जैन ने कोरोना वैक्सीनेशन के दूसरे डोज लगवाने वाले कि कम सँख्या होने पर गहरी चिंता व्यक्त की है।

बलौदाबाजार,14 मई 2021 : कलेक्टर सुनील कुमार जैन ने कोरोना वैक्सीनेशन के दूसरे डोज लगवाने वाले कि कम सँख्या होने पर गहरी चिंता व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने अपना पहले डोज का वैक्सीनेशन करा लिए है वह निश्चित समय अंतराल मे अपना दूसरें डोज का वैक्सीनेशन करा लेवें। नही तो पहले डोज के वैक्सीनेशन कोई मतलब नही होगा।

कोरोना के खिलाफ लड़ाई में वैक्सीन का केवल पहला डोज पर्याप्त नही है। सही समय अंतराल पर दूसरा डोज भी लगाना अनिवार्य है। तभी वैक्सीन प्रभावीं होगा। उन्होंने कहा की जिलें के सभी फ्रंट लाइनर जैसे स्वास्थ्य,पुलिस, राजस्व, पंचायत, नगरीय निकायों,महिला बाल विकास विभाग,अन्य विभागों के अधिकारियों कर्मचारियों सहित 45 वर्ष से अधिक को-मॉर्बिड व्यक्तियों जिन्होनें वैक्सीन का पहला डोज लगा लिए है वह अनिवार्य रूप से वैक्सीन का दूसरा डोज अपनें नजदीकी टीकाकरण केंद्र में जाकर लगावा लेवें।

उन्होंने बताया कि जिलें पर्याप्त मात्रा में दोनों वैक्सीन उपलब्ध है। इसके साथ उन्होंने जिले के 18 वर्ष से 44 वर्ष के लोगों से अपील की है वह शीघ्र ही अपनें एवं अपनें परिवार के सदस्यों का अनिवार्य रूप से टीकाकरण करा लेवें। वैक्सीन के अफवाहों पर ध्यान न देवें वैक्सीन ही कोरोना के खिलाफ लड़ाई की एक कारागार दवाई है।

टीकाकरण केंद्र 

स्वयं वैक्सीनेशन कराये एवं आसपास के अन्य लोगों को भी वैक्सीनेशन के लिए प्रेरित करें। हमारी सतर्कता एवं जागरूकता ही कोरोना से बचा सकता है। उन्होंने शासन द्वारा निर्धारित विभिन्न फ्रंटलाइनर पत्रकारों,वकीलों, राशन दुकानों के कमर्चारी,सब्जी वालो से कहा कि आप लोग भी अनिवार्य रूप से अपनें लिए निर्धारित नजदीकी टीकाकरण केंद्र में जाकर टीकाकरण करा लेवें।

वैक्सीन लगवाने का सही समय* जिला मुख्य स्वास्थ्य एवं चिकित्सा अधिकारी डॉ खेमराज सोनवानी ने बताया कि जिन्होंने कोविडशील्ड का टीका लगवायें है वह अपना दूसरा डोज 6 से लेकर 8 सप्ताह के बीच मे लगवायें। उसी तरह जिन्होंने कोवैक्सिन का टीका लगवाये है वह 28 दिन बाद दूसरा डोज लगा लेवें।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button