बलरामपुर : कलेक्टर ने निःशक्तजन विवाह व क्षितिज योजनांतर्गत हितग्राहियों को किया प्रोत्साहन राशि प्रदान

दिव्यांग दम्पतियों को दाम्पत्य जीवन में प्रवेश करने पर दी शुभकानाएं

बलरामपुर 27 मार्च 2021 : शासन के मंशानुरूप समाज कल्याण विभाग की निःशक्तजन विवाह प्रोत्साहन योजना अंतर्गत 8 दिव्यांगों को कलेक्टर श्याम धावड़े द्वारा 4 लाख रुपए की सहायता राशि प्रदान कर लाभान्वित किया गया है। निःशक्तजन विवाह प्रोत्साहन योजना के तहत् प्रत्येक दिव्यांग को 50 हजार रुपए की राशि चेक के माध्यम से प्रदान की गई है। जिसमें दो जोड़े दिव्यांग पति-पत्नी भी शामिल थे।

कलेक्टर ने दिव्यांगजनों को दाम्पत्य जीवन में प्रवेश करने की शुभकानाएं देते हुए उज्ज्वल भविष्य की कामना की है। साथ ही उन्होंने दो दिव्यांग छात्रों को क्षितिज अपार संभावनाएं योजना के तहत शिक्षा प्रोत्साहन योजना के तहत् 7 हजार रुपए की राशि प्रदान की। कलेक्टर ने विभागीय अधिकारियों से दिव्यांगजनों के लिए संचालित योजनाओं से अधिक से अधिक जोड़कर उन्हें लाभान्वित करने को कहा।

निःशक्तजन विवाह प्रोत्साहन योजना

ज्ञातब्य है कि निःशक्तजन विवाह योजना के अंतर्गत विवाहित दम्पति में से एक के निःशक्त होने पर 50 हजार रूपये और दोनों के निःशक्त होने पर एक लाख रूपये की प्रोत्साहन राशि दी जाती है। निःशक्तजन विवाह प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत लाभान्वित शिव कुमार ने बताया कि निःशक्तजन विवाह प्रोत्साहन योजना गृहस्थ प्रारंभ करने में दिव्यांगों के लिए बहुत उपयोगी है। राज्य शासन ने दिव्यानंगजनो के लिए अनेक कल्याणकारी योजनाएं संचालित कर रही है।

उन्होंने दिवन्यांगजनो से अपील करते हुए कहा कि वे जागरूक होकर योजनाओं का लाभ लें तथा आत्मनिर्भरता की ओर अग्रसर हो। दिव्यांग हितग्राहियों में विकासखण्ड बलरामपुर शिवकुमार, अरविन्द सिंह, विकासखण्ड रामचन्द्रपुर के पति-पत्नी रामबरन राम-राजपति वाड्रफनगर के सीमा प्रजापति, आलोक कुमार दुबे तथा विकासखण्ड शंकरगढ़ के पति-पत्नी दिनेश तिग्गा-महिमा मिंज को निःशक्तजन विवाह प्रोत्साहन योजना अंतर्गत कर लाभान्वित किया गया।

इस अवसर पर जिला पंचायत के अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी प्रवेश पैंकरा, उप संचालक समाज कल्याण चन्द्रमा यादव सहित अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button