तेजी से आगे बढ़ रहा है बलरामपुर-रामानुजगंज जिला: डॉ. रमन सिंह

रायपुर :

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि नया बलरामपुर-रामानुजगंज जिला तेजी से आगे बढ़ रहा है। प्रदेश के दूरस्थ अंचल का यह जिला बहुत जल्द प्रदेश के सबसे विकसित जिलों में शामिल होगा। मुख्यमंत्री आज प्रदेश व्यापी अटल विकास यात्रा के दौरान बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के रामानुजगंज में आयोजित विशाल आमसभा को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि वर्ष 2012 में इस जिले का निर्माण हुआ था। सिर्फ छह साल के भीतर इस जिले के ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में सड़क, बिजली, अस्पताल, स्कूल आदि सुविधाओं का तेजी से विस्तार हुआ है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्षों से इस क्षेत्र के लोग कम वोल्टेज की समस्या से प्रभावित थे। इस क्षेत्र में लगभग 350 किलोमीटर दूर कोरबा से बिजली लाईन आती थी। आज इस जिले के राजपुर विकासखंड के चटपपुर में 34 करोड़ रूपए की लागत से निर्मित 132/33 के.व्ही.के विद्युत उपकेन्द्र और वाड्रफनगर विकासखंड के ग्राम मोरंग 32 करोड़ रूपए की लागत से निर्मित 132/33 के.व्ही.के विद्युत उपकेन्द्र का लोकार्पण हुआ। इन विद्युत उपकेन्द्रों के निर्माण से इस क्षेत्र के लगभग 450 गांवों में लोगों की वर्षों पुरानी इस समस्या का समाधान हो जाएगा।

उन्होंने कहा कि अगले तीन माह में जिले के हर गांव, हर पारे-टोले और घरों में बिजली पहुंच जाएगी। डॉ. सिंह ने ढाई करोड़ की लागत से सामरी में स्थापित 33/11 के.व्ही. उपकेन्द्र का लोकार्पण इसके अलावा वाड्रफनगर के ग्राम बसंतपुर में दो करोड़ रूपए की लागत से और बलरामपुर के पस्ता में डेढ़ करोड़ की लागत से बनने वाले 33/11 के.व्ही. के विद्युत उपकेन्द्र का भूमिपूजन किया।

मुख्यमंत्री ने आमसभा में लगभग 214 करोड़ रुपये की लागत के 46 निर्माण कार्यो का लोकार्पण और भूमिपूजन किया। उन्होंने इनमे से 125 करोड़ 66 लाख रूपये के 33 कार्यों का लोकार्पण और 88 करोड़ रूपये के 13 विभिन्न कार्यों का शिलान्यास किया। डॉ. सिंह ने इस अवसर पर बलरामपुर जिले के तेंदूपत्ता संग्राहकों को 140 करोड़ रुपये का बोनस वितरण किया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस वर्ष प्रदेश में धान की अच्छी पैदावार होगी। किसानों को धान के बोनस का इंतजार नही करना पड़ेगा।धान की खरीदी के साथ किसानों को समर्थन मूल्य और बोनस की राशि मिलाकर धान की किस्म अनुसार प्रति क्विंटल 2050 और 2070 रुपये भुगतान किया जाएगा। उन्होंने कहा कि बलरामपुर जिले के निर्माण से यहां के लोगो को कामकाज में सहूलियत हुई है। 35 विभागों के कार्यालय संचालित होने से जरूरी सेवाएं और सुविधाएं रूप से मिल रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य शासन की योजनाओं से लोगों के जीवन में सकरात्मक परिवर्तन आ रहा है। उन्होंने कहा कि जब गरीब परिवारों के लिए चावल, गैस सिलेण्डर, पक्के आवास, इलाज के लिए स्मार्ट कार्ड, घरों में शौचालय का निर्माण होता है। घरों मे बिजली की व्यवस्था होती है। आवागमन के लिए अच्छी सड़के बनती है। बच्चों के लिए घर के पास स्कूल की व्यवस्था होती है। बच्चों के लिए स्कूल में कापी, किताब, मध्यान भोजन, बेटियों के लिए सायकल, अस्पताल आने जाने के लिए वाहन की व्यवस्था करना ही सहीं मायने में विकास है।

इस अवसर पर प्रभारी मंत्री एवं श्रम मंत्री भैयालाल राजवाड़े, लोकसभा साँसद कमलभान सिंह,राज्यसभा सांसद रामविचार नेताम, जिला पंचायत अध्यक्ष पुष्पा नेताम समेत जनप्रतिनिधि एवं बड़ी संख्या में क्षेत्र के लोग उपस्थित थे।

Back to top button