छत्तीसगढ़

बलरामपुर : प्रभारी सचिव पिंगुआ ने किया धान खरीदी केन्द्र एवं चेकपोस्ट का निरीक्षण

शासन के प्राथमिकता वाले योजनाओं का बेहतर क्रियान्वयन पर कार्य करें-मनोज पिंगुआ

बलरामपुर 11 दिसम्बर 2020 : छत्तीसगढ़ शासन के वाणिज्य एवं उद्योग तथा वन विभाग के प्रमुख सचिव एवं जिले के प्रभारी सचिव मनोज कुमार पिंगुआ दो दिवसीय जिला प्रवास के दौरान विकासखण्ड वाड्रफनगर, रामचन्द्रपुर, बलरामपुर के धान खरीदी केन्द्र तथा वाड्रफनगर के धनवार एवं रामानुजगंज के कन्हर चेकपोस्ट का आकस्मिक निरीक्षण कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिये।

जिले के प्रभारी सचिव मनोज कुमार पिंगुआ 11 दिसम्बर को विकासखण्ड वाड्रफनगर पहुंचकर धान खरीदी केन्द्र वाड्रफनगर एवं बसंतपुर का निरीक्षण किया। उन्होंने समिति प्रबंधक से समिति में पंजीकृत किसानों की संख्या तथा अभी तक समिति में धान आवक की जानकारी ली। प्रभारी सचिव ने बारदानों की उपलब्धता की जानकारी लेते हुए बारदानों में आवश्यक रूप से समिति का स्टैंसिल लगाने का कहा। उन्होंने समिति प्रबंधक से मिलरों को जारी किये गये धान व नमी मापक यंत्र से धान की आर्द्रता की माप तथा तौल मशीन के संबंध में जानकारी ली। उन्होंने प्रबंधक से तौल में वजन कम न हो इसका विशेष ध्यान रखने को कहा।

धान के अवैध के परिवहन

धान के अवैध के परिवहन को रोकने के लिए की गई व्यवस्था की जानकारी लेने पिंगुआ धनवार चेकपोस्ट पहुंचकर वस्तु-स्थिति का जायजा लिए। इस दौरान उन्होंने खनिज, कृषि एवं आबकारी विभाग के द्वारा संधारित किये जा रहे पंजियों का अवलोकन किया तथा ड्यूटी पर तैनात अधिकारी-कर्मचारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश देते हुए वाहनों की निरंतर जांच करने के निर्देश दिये। तत्पश्चात् उन्होंने विकासखण्ड रामचन्द्रपुर के धान खरीदी केन्द्र त्रिकुण्डा का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान समिति प्रबंधक से उन्होंने धान खरीदी की जानकारी लेकर संधारण किये जा रहे पंजियों का अवलोकन किया। खरीदी पंजी में किसानों के हस्ताक्षर नहीं होने पर उन्होंने नाराजगी व्यक्त करते हुए समिति प्रबंधक एवं कर्मचारियों को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिये।

दूसरे दिन जिले के प्रभारी सचिव मनोज कुमार पिंगुआ एवं कलेक्टर श्याम धावड़े ने रामानुजगंज पहुंचकर अन्तर्राष्ट्रीय कन्हर चेकपोस्ट का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने कृषि उपज मंडी, परिवहन नाका के पंजियों का अवलोकन किया। कृषि उपज मंडी नाका प्रभारी ने जानकारी दी कि नाके में हर आने-जाने वाले गाड़ियों एवं गाड़ी में रखे सामानों की जांच की जाती है। आवश्यक दस्तावेज होने पर ही गाड़ी का जाने दी जाती है।

कलेक्टर श्याम धावड़े ने बताया

कलेक्टर श्याम धावड़े ने बताया कि दूसरे राज्य से आने वाले सुपर फाईन धान को ही वैध दस्तावेज होने पर आगे जाने की अनुमति दी जाती है। तत्पश्चात् प्रभारी सचिव पिंगुआ ने तातापानी धान खरीदी केन्द्र का अवलोकन किया एवं खरीदी केन्द्र में की गई आवश्यक व्यवस्था के संबंध में जानकारी ली। उन्होंने धनगांव के कृषक दीनबंधु, विरेन्द्र तथा तातापानी के कृषक निमाई से समिति में की गई व्यवस्था के बारे में जानकारी ली। कृषकों ने बताया कि इस धान खरीदी केन्द्र में समिति द्वारा सभी आवश्यक व्यवस्था ठीक है, कृषकों को अपने धान विक्रय करने में किसी भी प्रकार परेशानी नहीं हो रही है। पिंगुआ ने समिति प्रबंधक से सीमांत एवं लघु किसानों का प्राथमिकता से एक ही बार में क्रय करने के निर्देश दिये।

निरीक्षण के दौरान वन मण्डलाधिकारी लक्ष्मण सिंह, अपर कलेक्टर विजय कुमार कुजूर, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व वाड्रफनगर  विशाल कुमार महाराणा, रामानुजगंज अभिषेक गुप्ता, डिप्टी कलेक्टर एवं प्रभारी तहसीलदार रामानुजगंज विवेक चन्द्रा, वाड्रफनगर तहसीलदार सुरेन्द्र पैंकरा सहित वन एवं राजस्व विभाग के अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।

प्रमुख सचिव वाणिज्य एवं उद्योग तथा वन एवं जिले के प्रभारी सचिव मनोज कुमार पिंगुआ ने न्यू सर्किट हाउस के बैठक कक्ष में विभाग प्रमुखों के साथ विभागीय योजनाओं की क्रियान्वयन की समीक्षा की। बैठक में शासन की प्राथमिकता प्राप्त योजना जैसे गोधन न्याय योजना, वन अधिकार, वन संसाधन, उद्योग एवं उद्यमिता विकास तथा सुपोषण अभियान से जुडे़ महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर चर्चा की गई।

गोधन न्याय योजन की समीक्षा

प्रभारी सचिव मनोज पिंगुआ ने गोधन न्याय योजन की समीक्षा करते हुए अब तक क्रय किये गये गोबर की मात्रा, उनका रख-रखवा, नियमित भुगतान तथा वर्मी कम्पोस्ट के बारे में जानकारी ली। उन्होंने कहा कि वर्मी कम्पोस्ट खाद के गुणवत्ता की षिकायत रहती है। अतः गोठानों में तैयार की जाने वाली वर्मी कम्पोस्ट के गुणवत्ता पर विषेष ध्यान देने को कहा। उन्होंने अधिकारियों से शासन के प्राथमिकता वाले योजनाओं का बेहतर क्रियान्वयन के साथ कार्य करने को कहा।

उन्होंने कहा कि स्थानीय जलवायु के अनुकुल एवं बाजार के मांग के अनुरूप उद्यानिकी फसलों को प्राथमिकता दी जाये, जिससे किसान की आय बढ़े और उनके जीवन में सुधार हो। साथ ही जिले में फूड पार्क की स्थापना करने पर चर्चा की गई। बैठक में कलेक्टर श्याम धावड़े, पुलिस अधीक्षक रामकृष्ण साहू, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी हरीष एस. वनमण्लाधिकारी लक्ष्मण सिंह सहित जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button