छत्तीसगढ़

बम्हनीडीह, बाराद्वार, सारागांव और अड़भार को मिलेगा तहसील का दर्जा: सीएम बघेल

समारोह को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री भूपेश ने कहा

जांजगीर-चांपा: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बम्हनीडीह, बाराद्वार, सारागांव और अड़भार को तहसील का दर्जा दिलाने की घोषणा की है। वहीं मुख्यमंत्री बघेल ने कुर्मी क्षत्रिय समाज की मांग पर जांजगीर जिला मुख्यालय में एक सर्वसुविधा युक्त सामुदायिक भवन की घोषणा की।

सीएम भूपेश बघेल ने पटेल को श्रद्धांजलि अर्पित कर उनकी प्रतिमा के अनावरण समारोह को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री भूपेश ने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार लोगों के प्रति अपनेपन और आत्मीयता की भावना से काम कर रही है।

उन्होने कहा कि आजादी के बाद भारत की देशी रियासतों का एकीकरण एक चुनौती थी, किन्तु इस चुनौती को स्वीकार कर सरदार वल्लभ भाई पटेल ने रियासतों के एकीकरण का काम सफलतापूर्वक किया जो उनके राजनैतिक जीवन की ऐतिहासिक और महत्वपूर्ण राष्ट्रीय उपलब्धि है।

समारोह की अध्यक्षता विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत ने की। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि इस वर्ष केन्द्र सरकार 2500 रूपये में खान खरीदी की अनुमति देने आनाकानी कर रही है। उन्होंने सभी किसानों का आह्वान कर कहा कि वे 2500 रूपये में धान खरीदी करने छत्तीसगढ़ सरकार को अनुमति देेने प्रधानमंत्री को शीघ्र आग्रह पत्र प्रेषित करें।

अपने उद्बबोधन में मुख्यमंत्री ने कहा कि आज सरदार पटेल की 144वीं जयंती और पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्रीमती इंदिरा गांधी की पुण्य तिथि पर उन्हें पूरा देश श्रद्धा-सुमन अर्पित कर रहा है। उन्होंने कहा कि एक लौह पुरूष और दूसरी आयरन लेडी के नाम से विख्यात इन दोनों हस्तियों ने देश की सेवा के लिए समर्पित होकर कार्य किया।

अपने उद्बोधन के दौरान मुख्यमंत्री ने देशी रियासतों के एकीकरण सहित सरदार वल्लभ भाई पटेल का बारदोली, खेड़ा आंदोलनों का उल्लेख करते हुए देश के लोगों के लिए उनके महत्वपूर्ण योगदान से अवगत कराया।

Tags
Back to top button