भारत की ओर से कोरोना वैक्सीन के निर्यात पर रोक, बांग्लादेश ने उठाया ये कदम

पिछले काफी लंबे वक्त से ही बांग्लादेश ने हिलसा के निर्यात पर रोक लगा रखी

हिलसा:भारत सरकार ने बांग्लादेश को कोरोना वैक्सीन के निर्यात पर रोक लगा दी है. ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कि इसलिए इससे नाराज होकर बांग्लादेश सरकार ने भी हिलसा मछली के निर्यात को सीमित कर दिया है.

विदेश मंत्रालय के मुताबिक, भारत ने बांग्लादेश को 1 करोड़ से ज्यादा वैक्सीन भेजी थी, लेकिन देश में दूसरी लहर के दौरान वैक्सीन की कमी होने की वजह से भारत ने वैक्सीन के निर्यात पर अभी रोक लगा रखी है. इससे नाराज होकर बांग्लादेश सरकार ने भारतीयों की पसंदीदा हिलसा मछली के निर्यात को ही सीमित कर दिया.

हालांकि, पिछले काफी लंबे वक्त से ही बांग्लादेश ने हिलसा के निर्यात पर रोक लगा रखी है. लेकिन पिछले साल जमाई षष्ठी (बंगाल का एक त्योहार) के मौके पर बांग्लादेश की शेख हसीना सरकार ने 2 टन हिलसा मछली को निर्यात करने की स्पेशल परमिशन दी थी. हिलसा मछली बांग्लादेश में पद्मा नदी (वहां गंगा नदी को पद्मा कहा जाता है) में पाई जाती है, जिसे बंगाल में काफी पसंद किया जाता है.

कुछ विशेषज्ञों का मानना है कि भारत ने वैक्सीन नहीं भेजी, इसलिए हिलसा के निर्यात पर भी रोक लगा दी, ये अनुमान लगाना सही नहीं होगा. क्योंकि दोनों देशों के बीच संबंध हिलसा डिप्लोमेसी पर नहीं टिके हैं.

जब बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी एक समझौते पर साइन करने के लिए ढाका गई थीं, तो वहां उन्होंने मजाक-मजाक में बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना से पूछा था, “मेनू में हिलसा के इतने सारे आइटम क्यों हैं?” इस पर हसीना ने जवाब देते हुए कहा, “जैसे ही तीस्ता नदी का वॉटल लेवल बढ़ेगा, हिलसा भी तैरकर बंगाल आ सकेगी.”

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button