राजधानी में मूर्ति विसर्जन पर रोक, गाइडलाइन में बताई गई ये वजह

दिल्ली में मूर्ती विसर्जन पर रोक लगा दी गई है. यमुना नदी (Yamuna River) में मूर्ति विसर्जन की अनुमति नहीं होगी. इसके साथ ही किसी भी सार्वजनिक स्थान पर मूर्ति विसर्जन पर रोक लगाई गई है. ये फैसला दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण कमेटी (Delhi Pollution Control Committee) ने लिया है. इसके लिए दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण कमेटी ने पूरी गाइडलाइन जारी की है.

बता दें कि आज नवमी है. दुर्गा पूजा (Durga Puja) के बाद मूर्तियों को सार्वजनिक जलाशयों में विसर्जित करने की अनुमति नहीं होगी. यमुना नदी सहित किसी भी नदी, तालाब, झील और सार्वजनिक कुओं में मुत्री विसर्जित नहीं की जा सकती हैं. अधिकारियों ने इसके पीछे प्रदूषण को वजह बताई है. गाइडलाइन के अनुसार, मूर्तियों में बेहद हानिकारक केमिकल्स होते हैं. ये पानी को बेहद ज़हरीला बना देते हैं. इससे पानी की गुणवत्ता ख़राब हो जाती है.

इस पानी के इस्तेमाल से शरीर में कई तरह की बीमारियाँ होने का खतरा बढ़ जाता है. कैंसर भी हो सकता है. अधिकारियों के अनुसार, अगर रोक के बाद भी नियम तोड़ा जाता है तो ऐसा करने वालों से 50 हज़ार रुपए का जुरमाना वसूला जायेगा.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button