बांग्लादेश में हादसे के पांच साल बाद न्याय की मांग को लेकर प्रदर्शन

सावरः बांग्लादेश के राणा प्लाजा में आज सैकड़ों लोगों ने कपड़ा फैक्ट्रियों के परिसर में हुए हादसे में मारे गए लोगों को अश्रुपूर्ण श्रद्धांजलि अर्पित की। साल 2013 में यह परिसर ध्वस्त हो गया था और दुनिया के इस सबसे भयावह औद्योगिक हादसे ने करीब 1,130 लोगों की जान ले ली थी।

इस आपदा में मारे गए लोगों के परिजनों और जीवित बच गए लोगों ने यहां बनाए गए स्मारक पर हादसे की आज पांचवी बरसी पर अपनों को पुष्पांजलि अर्पित की। यह स्मारक कंक्रीट का एक चबूतरा है जिस पर कंक्रीट से ही एक हथौड़ा और एक हंसिया बनाया गया है। बाद में लोगों ने एक रैली भी निकाली।

रैली में शामिल ज्यादातर लोग मजदूर थे जिन्होंने सरकार से न्याय की मांग की। इन लोगों के हाथ में, हादसे के दौरान लापता हुए लोगों की तस्वीरें थीं। जब यह परिसर ध्वस्त हुआ था तब यहां करीब 3,500 लोग काम कर रहे थे।

परिसर में पश्चिमी ब्रांड के परिधान बनाने वाली इकाइयां थीं। हादसे में बचे सभी लोग तब गंभीर रूप से घायल हो गये थे। कई लोग लापता भी हुए जिनका आज तक पता नहीं चल पाया है। इस मामले में बार बार हत्या का मामला चलाया गया। लापरवाही का पता चलने के बावजूद किसी को दोषी नहीं ठहराया जा सका।

Back to top button