खेल

अपने इस प्रमुख ऑलराउंडर के बिना टी20 खेलेगा बांग्लादेश की टीम

बांग्लादेश ने भारत में केवल 10 टी20 इंटरनेशनल ही खेले

नई दिल्ली: भारत और बांग्लादेश पहला टी20 मैच आज 03 नवंबर को खेला जाएगा. इस मैच का आयोजन दिल्ली के अरुण जेटली स्टेडियम में होगा. इस मैच में एक तरफ रोहित शर्मा की अगुवाई वाली टीम इंडिया वर्ल्डकप को मद्देनजर रखते हुए प्रदर्शन करेगी जिसमें भारतीय टिम के कप्तान विराट कोहली और बुमराह नहीं होंगे.

वहीं इस मैच में बांगलादेश की टीम अपने प्रमुख ऑलराउंडर शाकिब अल हसन के बिना खेलगी. टीम की कप्तान मेहमूदुल्लाह के हाथों में हैं. दोनों टीमें वैसे तो एक दूसरे के खिलाफ 8 टी20 इंटरनेशनल खेल चुकी हैं जिसमें भारत ने सभी मैच जीते हैं, लेकिन बांग्लादेश का रिकॉर्ड रोहित शर्मा को कुछ चेतावनी जरूर दे रहा है.

सुधार हो रहा है बांग्लादेश के टी20 रिकॉर्ड का

बांग्लादेश ने अब तक 89 टी20 इंटरनेशनल मैच खेले हैं. इनमें से उसे केवल 29 में ही जीत हासिल हुई है और 58 मैचों में उसे हार का सामना करना पड़ा है. दो मैचों का नतीजा नहीं निकल सका.

इनमें से उसने भारत में 10 टी20 मैच खेले हैं और उनमें से उसे दो में जीत मिली है. बांग्लादेशी टीम ने कई मैच ऐसे खेले हैं जिसमें या तो उसने चौंकाया है या फिर उसे नजदीकी हार तक मिली हैं.

भारत में खेले 10 टी20 इंटरनेशनल मैचों की बात की जाए तो बांग्लादेश ने तीन मैच धर्मशाला, तीन मैच देहरादून और कोलकाता और बेंगलुरू में दो-दो मैच खेले हैं. इन 10 मैचों में उसने भारत के खिलाफ केवल एक ही मैच साल 23 मार्च 2016 को खेला था. वहीं उसने अफगनिस्तान के खिलाफ तीन मैच खेले हैं और नीदरलैंड, आरलैंड ओमान, पाकिस्तान, ऑस्ट्रेलिया, और न्यूजीलैंड के खिलाफ एक-एक मैच खेला है.

भारत में बागंलादेश का रिकॉर्ड अच्छा नहीं

भारत में बांग्लादेश का रिकॉर्ड बहुत अच्छा नहीं है. वह अपने केवल पहले ही दो मैच जीत सकी थी जो उसने आईसीसी टी20 विश्व कप 2016 में नीदरलैंड और आयरलैंड के खिलाफ खेले थे. उसके बाद से उसे भारत में खेले अब तक किसी मैच में हार नहीं मिली है. पहले दो मैचों के बाद 2106 विश्व कप में उसे ओमान पाकिस्तान, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड और भारत ने हराया था.

हाल ही में सुधार हुआ है बांग्लादेश के प्रदर्शन में

2016 विश्व कप के बाद बांग्लादेश ने 2018 में भारत के देहरादून में अफगानिस्तान के खिलाफ तीन टी20 मैच खेले थे जिसमें उसे हर मैच में हार का सामना करना पड़ा था. इस तरह यह रिकॉर्ड इस सीरीज के लिए काम का नही है.

2018 के बाद बांग्लादेश के प्रदर्शन में काफी बदलाव आया है. उस सीरीज के बाद बांगलादेश ने 11 टी20 मैच खेले और उनमें से उसे 6 में जीत और चार में हार का सामना करना पड़ा. और एक मैच रद्द हो गया था.

बेहतर हो रही है टीम

पिछले दो मैचों में बांग्लादेश ने अपने घरेलू मैदान पर जिम्बाब्वे और अफगानिस्तान को हराया है. उससे पहले ढाका में उसे एक मैच अफगानिस्तान से हारना पड़ा था और जिम्बाब्वे से एक मैच में जीत मिली थी. इससे पहले वेस्टइंडीज के खिलाफ छह टी20 मैचों में तीन जीत और तीन हार झेलनी पड़ी थीं.

रोहित को है मेहमान टीम का अनुभव

ये रिकॉर्ड बांग्लादेश का अपने आप में काफी कुछ बयां कर देता है. वैसे भी टी20 मैच कभी भी पलट जाने के लिए मशहूर होते है. बांग्लादेश की पिछले एक साल में कभी हार कभी जीत जैसी स्थिति उसके जुझारूपन को साफ बयां करती है.

रोहित अच्छे से वाकिफ हैं वे निदहास ट्रॉफी में करीब दो साल पहले बांग्लादेश के खिलाफ टी20 कप्तानी कर चुके हैं जहां बांग्लादेश को तीनों मैच हारने जरूर पड़े थे, लेकिन एक मैच में उसने भारत की जीत मुश्किल भी कर दी थी. अब रोहित के सामने बांग्लादेश के खिलाफ भारत का अजेय रहने का रिकॉर्ड कायम रखने की चुनौती होगा.

Tags
Back to top button