छत्तीसगढ़

बैंक अधिकारियों की सतर्कता से कारोबारी ठगी से बचा

रायपुर: समता कालोनी निवासी एक रोलिंग मिल कारोबारी के चेक का इस्तेमाल कर पौने 6 लाख ठगने की कोशिश की, बैंक अधिकारियों की सतर्कता से रकम ट्रांसफर तो नहीं हो पाया और कारोबारी ठगी से बच गया। मिल मालिक एएन अग्रवाल का चेक का इस्तेमाल कर ठगी करने वला था। पुलिस ने बैंक से असली और नकली चेक बरामद कर उसकी जांच की तो दोनों चेक एक जैसे ही निकले। ठग के पास से मिला यूनियन बैंक का चेक हूबहू असली चेक जैसा ही था, जिसे बैंक का यूवी मशीन भी पकड़ नहीं पायी । केवल आईएफएससी कोड अलग-अलग थे। ठग ने इस चेक को पंकज जैन के नाम से यूनियन बैंक में लगाया था और पूरी राशि पुणे स्थित अपने देना बैंक में ट्रांसफर करने की कोशिश की। इस बीच बैंक अधिकारियों तक मामले की खबर पहुंच गई, उन्होंने रकम आरोपी के खाते में ट्रांसफर होने से रोका। ठग के नकली चेक में यूनियन बैंक का सिक्यूरिटी फीचर के रूप में इस्तेमाल किए जाने वाला लोगो भी लगा था, लोगो खुफिया होता है, जो चेक में बना होता है और आसानी से नजर नहीं आता। यह लोगो भी ठग के चेक में लगा था। आशंका जताई जा रही है कि आरोपी कोई बैंक कर्मचारी है, इस कारण बैंक के चेक के बारे में जानकारी रखता है।
इस संबंध में टीआई आजाद चौक सपन चौधरी ने बताया कि आरोपी के चेक और बैंक के असली चेक की जांच की गई, नकली चेक को यूवी मशीन भी नहीं पकड़ पाई और स्केन करने के बाद असली चेक जैसा रिजल्ट दिया। मामले की सूक्षमता से जांच की जा रही है।

Summary
Review Date
Reviewed Item
बैंक अधिकारियों की सतर्कता से कारोबारी ठगी से बचा
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *