राष्ट्रीय

तीस हजारी मामले में चीफ जस्टिस रंजन गोगोई के आवास पर बार हो रही बैठक

पुलिस और वकीलों की शिकायत के आधार पर क्रॉस FIR दर्ज

नई दिल्ली: तीस हजारी कोर्ट परिसर में शनिवार को पार्किंग को लेकर शुरू हुए मामूली विवाद ने हिंसा का रूप ले लिया, जिसमें वकील वर्मा को गोली लग गई. पुलिस ने आरोप लगाया कि वकीलों ने उन पर हमला कर दिया और पुलिस के कुछ वाहनों में आग लगा दी.

पुलिस ने कहा, “एक अतिरिक्त डीसीपी और दो एसएचओ समेत 20 पुलिसकर्मी घायल हो गए. आग में 12 निजी मोटरसाइकिलें, पुलिस की एक क्यूआरटी जिप्सी और आठ जेल वैन क्षतिग्रस्त हो गईं.”

जिसके बाद इस मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई के आवास पर बार काउंसिल ऑफ इंडिया, बार काउंसिल ऑफ दिल्ली और वकीलों के अन्य संगठनों की एक बैठक हो रही है. वहीं, तीस हजारी कोर्ट में समन्वय समिति की एक बैठक आयोजित की जा रही है, जिसमें निचली अदालतों के सभी प्रतिनिधि भी मौजूद हैं.

इस केस में पुलिस और वकीलों की शिकायत के आधार पर क्रॉस FIR दर्ज की गई हैं. ये एफआईआर आईपीसी की धारा 307, 186, 353 और 427 के तहत दर्ज की गई है. घटना की जांच के लिए दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच की SIT गठित की गई है, जोकि मामले की जांच कर रही है.

घटना के बाद से तीस हजारी कोर्ट में भारी पुलिसफोर्स तैनात की गई है. दिल्ली के सभी डिस्ट्रिक्ट की पुलिस को अलर्ट पर रखा गया है. पुलिस सीसीटीवी के जरिये पूरा घटनाक्रम जानने की कोशिश कर रही है. पुलिस मोबाइल फुटेज को भी इकठ्ठा कर रही है. वहीं, वकीलों की ओर से फैसला लिया गया है कि कल यानी सोमवार को वकील हड़ताल पर रहेंगे.

Tags
Back to top button