बसवराजू ने संभाली नक्सल संगठन में महासचिव पद की कमान

केंद्रीय कमेटी के प्रवक्ता ने की नाम की घोषणा

रायपुर।

प्रतिबंधित नक्सल संगठन भाकपा (माओवादी) की केंद्रीय कमेटी के प्रवक्ता अभय ने बुधवार को एक प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से बसवराजू के नाम की घोषणा की। इस विज्ञप्ति में बताया गया है कि गणपति ने अपनी जिम्मेदारियों से स्वेच्छा से हटने का निर्णय लिया, जिसके बाद बसवराजू के नाम की घोषणा की गई है।

पिछले कुछ वर्षों से अपनी बढ़ती अस्वस्थता और बढ़ती उम्र की वजह से गणपति ने अपनी जिम्मेदारी से हटने की इच्छा जताई थी। दूसरी तरफ केंद्रीय कमेटी को और मजबूत करने के मकसद से नक्सल संगठन नए महासचिव की तलाश में था। बसवराजू का पूरा नाम नंबाल्ला केशव राव है।

गणपति वर्ष 1992 से संगठन में महासचिव की जिम्मेदारी संभाल रहा था। साल 2000 में गणपति के नेतृत्व में नक्सल संगठन ने सैनिक लाइन को विकसित कर जनमुक्ति छापामार सेना गठित की थी।

इसके बाद नक्सल आंदोलन और तेज हो गया। आज छत्तीसगढ़ में समूचा बस्तर, राजनांदगांव जिला, गरियाबंद, धमतरी, बलौदाबाजार सहित उत्तर छत्तीसगढ़ के सीमावर्ती जिले नक्सलवाद से प्रभावित हैं।

राज्य में पुलिस द्वारा चलाए जा रहे नक्सल विरोधी अभियान की वजह से भी नक्सली बैकफुट पर आए हैं और उन्हें संगठन के नए नेता व नीतिकार की जरूरत पड़ी है।

बसवराजू उर्फ नंबाल्ला केशव राव साढ़े तीन दशक से नक्सल संगठन से जुड़ा है और एनआईटी से इंजीनियरिंग में स्नातक है। इसे संगठन में आईईडी व अन्य विष्फोटकों का विशेषज्ञ माना जाता है।

1
Back to top button