छत्तीसगढ़

तिमाही परिणामों के आधार पर मिलेगा स्कूल को ग्रेड

रायगढ़ । छत्तीसगढ़ में सरकारी स्कूलों की शिक्षा गुणवत्ता बढ़ाने के लिए नई पहल की जा रही है। इस पहल में स्कूलों की ग्रेडिंग तय की जाएगी। नए नियमों में हर स्कूलों में बच्चों से ली जाने वाली तिमाई परीक्षा के परिणाम जांचे जायेंगे। कलेक्टर रायगढ़ शम्मी आबिदी ने कहा कि, जिले के सभी सरकारी स्कूलों में हर तीन माह के बाद परीक्षाओं के परिणामों का आंकलन किया जा रहा है। आकड़े लेकर स्कूलों की ग्रेडिंग बनाई जा रही है। स्कूल की कमियों को दूर करने के बाद अगर ग्रेडिंग में कमी आती है, तो संबंधित स्कूल के शिक्षकों पर भी कार्रवाई की जाएगी।
परिणामों के जांच के बाद किसी स्कूलों में अगर पढ़ाई कम होने के आधार पर बच्चे कम अंक लाते हैं, तो उस स्कूल में शिक्षा का स्तर सुधार लाने की पहल करने के साथ-साथ कमियों को दूर करने का प्रयास किया जाएगा। इसके अलावा हर तीन माह में इसी प्रकार की परीक्षाओं को आयोजित करने के बाद अच्छी गुणवत्ता वाले स्कूलों का चयन कर पुरस्कृत किया जाएगा।
पिछले दिनों से शिक्षा गुणवत्ता का स्तर बढ़ाने के लिए शासन की ओर से कई प्रकार की योजनाएं चलाई जा रही है। इसके बाद भी सरकारी स्कूलों का स्तर उम्मीद के हिसाब से ऊपर नहीं बढ़ पा रहा है। शिक्षा के गिरते स्तर के कारण अब चिंता जताई जा रही है। ऐसे में यह अभिनव पहल शिक्षा गुणवत्ता को बढ़ाने के लिए मील का पत्थर साबित हो सकता है।

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *