बस्तर रेड कार्रिडोर से अब ग्रीन विन्डो की ओर

रेल सुविधाओं में विस्तार को लेकर बस्तर सांसद का किया आंध्र ओडिशा के सांसदों ने समर्थन
रेल सुविधाओं से अछूता नहीं रखा जा सकता बस्तर को

अमुराग शुक्ला

जगदलपुर. नक्सलवाद और लाल लड़ाकों के आतंक से जूझते बस्तर में जिस तरह से फोर्स ने डेरा जमाया और रेड कॉरिडोर के नाम से जाने जाने वाले बस्तर की तस्वीर बदल रही है। इससे यह कयास लगाए जा रहे हैं प्रकृति और जलप्रपातों तथा रियासतकालीन विरासत से लबरेज बस्तर अब पर्यटन के क्षेत्र में अपनी अलग पहचान के साथ एक बार फिर देश और विदेश के सैलानियों का इंतजार कर रहा है।

बस्तर जिस विकास की ओर जा रहा है इससे अब पर्यटन के रास्ते ग्रीन विन्डो खुल रहा है। इसमें चार चांद लगाने में रेल मंत्रालय ने किसी तरह की कमी नहीं की है। एक से पांच यात्री ट्रेनों का विस्तार बताता है कि बस्तर की ओर पर्यटक आकर्षित हो रहे हैं और बस्तर के लोगो को रेल सुविधा से कई फायदे मिल रहे हैं। इसमें स्वास्थ्य गत फायदे अधिक हैं। रेल सुविधाओं में विस्तार को लेकर बस्तर सांसद दिनेश कश्यप का योगदान अहम रहा है। फिलहाल वे इन सुविधाओं से उतने संतुष्ट नहीं हैं। कश्यप का मानना है कि बस्तर का सालों से दोहन हुआ है।

इसके चलते रेल मंत्रालय को बस्तर की बदलती परिस्थितियों में कंधा से कंधा मिलाकर चलना चाहिए। बस्तर को अब रेल व हवाई सेवा से अछूता नहीं रखा जा सकता है। ऐसे ही उदगार उन्होंने शुक्रवार को रेल मंत्रालय के निर्देशानुसार होने वाली डिविजनल कमेटी की बैठक में विशाखापटनम में कही। इस दौरान आंध्र और ओडिशा के छह सांसद मौजूद रहे। इन सभी सांसदों ने बस्तर सांसद की बातों का खुला समर्थन किया। सभी सांसदों ने अपने क्षेत्र में ट्रेनों के विस्तार, यात्री सुविधा सहित अन्य आवश्यक जरूरतों पर बैठक के दौरान भुवनेश्वर रेल जोन के जीएम उमेश सिंह व वाल्टेयर रेल मण्डल के डीआरएम मुकुल शरण माथुर के समक्ष रखी।

शक्तिपीठ तक जा सकती है नाईट एक्सप्रेस

बस्तर सांसद दिनेश कश्यप ने जनहित के कई मसलों को लेकर जीएम की अध्यक्षता में होने वाली बैठक में रखा। यह मसले ऐसे थे जो आने वाले समय में क्रियान्यवित हो सकते हैं। फिलहाल जिस विषय पर सांसद ने पहल की है उसपर रेल मण्डल क्या करेगा यह देखने वाली बात है। सांसद ने देशी विदेशी सैलानी और श्रद्धालुओं का हवाला देते मांग रखी कि बस्तर का दशहरा विश्व प्रसिद्ध है। इस दौरान सैलानी और श्रद्धालु बहुतायत में आते हैं। उनकी सुविधा को देखते नाईट एक्सप्रेस का विस्तार दस दिन के लिए जगदलपुर से दंतेववाड़ा शक्ति पीठ तक किया जाए। इसपर जीएम ने सुरक्षा का पहले तो हवाला दिया और फिर इसके लिए रेल मंत्रालय से अनुमति लेने की बात कही गई।

दिल्ली के लिए हो यात्री ट्रेन

बैठक में दिनेश कश्यप ने बस्तर को दिल्ली से सीधे जोड़े जाने की बात को लेकर पहल की। उन्होंने अपने अंदाज में कहा कि बस्तर सिर्फ देने के लिए नहीं है यहां के लोगो को भी सुविधा मिलनी चाहिए। दिल्ली के लिए समता एक्सप्रेस को इस तरह विस्तार किया जाना चाहिए कि बस्तर वासियों को सप्ताह में एक से दो दिन यह सुविधा मिल सके। इस पर जीएम ने तकनीकि समस्या का हवाला देते कहा कि समता एक्सप्रेस में कोच की संख्या अधिक है और बस्तर की ओर जाने वाला मार्ग घाट सेक्शन मेंं आता है।

वर्ग विशेष को मिले लाभ

सांसद ने बस्तर में बसे ओडिशा, बिहार और झारखण्ड इलाके के लोगो का हवाला देते कहा कि इस वर्ग की अधिकता को देखते इन्हें भी अपने गृह ग्राम तक के लिए सहूलियत मिलनी चाहिए। इसके चलते राउरकेला एक्सप्रेस जो कोरापुट तक चलती है उसका विस्तार जगदलपुर तक किए जाने से हजारों लोगों को राहत मिलेगी। इस बात पर जीएम ने मुहर लगाते कहा है कि रेल दोहरिकरण का कार्य प्रगति पर है। इस निर्माण के पूर्ण होते ही रेल मंत्रालय के आदेश पर राउरकेला एक्सप्रेस का विस्तार जगदलपुर तक किया जाएगा। इससे पूर्वोत्तर भारत के लिए मार्ग प्रशस्त होगा।

स्टेशन हो अपग्रेड, बनें और बी क्लास स्टेशन

दिनेश कश्यप ने वर्तमान में जगदलपुर स्टेशन में जारी कार्य और इसमें सुविधाओं को प्रदान करने को लेकर आवश्यक पहल की आवश्यकता से सभी को अवगत करवाया। उन्होनें कहा कि जगदलपुर स्टेशन में यात्रियों की सुविधा के लिए रिटायरिंग रूम बनाया जाए, वाई फाई की सुविधा तत्काल शुरू की जाए, डारमेटरी का निर्माण हो स्टेशनों में यात्रियों को ठंडा और शुद्ध पेयजल प्रदान करने सिस्टम लगाया जाए। उन्होंने बताया कि स्टेशन के उन्नयन स्वरूप स्वीकृत कोचिंग यार्ड व वाशिंग लाइन के स्वीकृत कार्य को शुरू नहीं किया गया है। इसे शीघ्र प्रारंभ किया जाए। स्टेशन के एक नंबर के प्लेटफार्म की उंचाई को निर्धारित मानक अनुसार बनाया जाए। किरन्दुल बचेली दंतेवाड़ा रेलवे स्टेशनों को भी बी क्लास की सुविधा दिलाई जाए।

ये रहे मौजूद

बैठक के दौरान विशाखापटनम के सांसद और डिविजनल कमेटी के अध्यक्ष डॉ के हरिबाबू, एन भास्कर राव राज्य सभा सांसद ओडिशा, के राम मोहन नायडू सांसद श्रीकाकुलम, बस्तर सांसद दिनेश कश्यप, अनकापल्ली के सांसद एम श्रीनिवास राव, कोरापुट सांसद झिना हिकाका, जीएम ईको रेलवे उमेश कुमार सिंह, डीआरएम एम के माथुर, डीआयूसीसी मेंमबर दिलिप कुशवाह सहित ईको रेलवे के विभिन्न विभाग प्रभारी मौजूद रहे।

Back to top button