पीसीबी के खिलाफ़ बीसीसीआई बनाएगी आईसीसी के चेयरमेन को गवाह?

पीसीबी ने बीसीसीआई के खिलाफ बाइलेटरल सीरीज ना खेलने पर सात करोड़ डॉलर के हर्जाने का ठोका है दावा, अक्टूबर में आईसीसी में होगी सुनवाई

अब बीसीसीआई और पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड की क़ानूनी जंग में बीसीसीआई गवाह के तौर पर आईसीसी को ला सकती हैं जानकारी के मुताबिक यान पीसीबी के बीच चल रहे कानूनी लड़ाई में बीसीसीआई,आईसीसी के मौजूदा चेयरमेन और अपने पूर्व अध्यक्ष शशांक मनोहर को ही बतौर गवाह पेश करेगी.

एक अख़बार में छपी खबर के मुताबिक पीसीबी ने भारतीय बोर्ड के खिलाफ सात करोड़ डॉलर के हर्जाने के लिए जो मुकद्मा आईसीसी की डिस्प्यूट रिजोल्यूशन कमेटी यानी डीआरसी में दायर किया है उसमें अपने पक्ष को साबित करने के लिए बोर्ड ने शशांक मनोहर की भी गवाही करावाएगा.

पीसीबी की दावा है कि भारतीय बोर्ड ने उसके साथ हुए बाइलेटरल सीरीज के समझौते का पालन नहीं किया जिसके चलते उसे काफी आर्थिक नुकसान हुआ. वहीं दूसरी ओर बीसीसीआई का कहना है कि उसने कभी पीसीबी के साथ कोई समझौता नहीं किया था और पाकिस्तानी बोर्ड जिस दस्तावेज की बात कर रहा है वह लेटर ऑफ इंटेंट था. समझौता पत्र नहीं.

Back to top button