मनोरंजन

b’day spl: फिल्म ‘दिल भी तेरा हम भी तेरे’ से बॉलीवुड में धर्मेंद्र ने किया था डेब्यू

19 साल की उम्र में प्रकाश कौर से हुई थी धर्मेंद्र की पहली शादी

नई दिल्ली: 1997 में हिंदी सिनेमा में अपने योगदान के लिए फिल्मफेयर लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड पाने वाले भारतीय सिनेमा के इतिहास में सबसे सफल अभिनेताओं में से एक धर्म सिंह देओल यानि बॉलीवुड के हीमैन धर्मेंद्र का आज 84 वां जन्मदिन है।

धर्मेंद्र का जन्म 8 दिसम्बर 1935 को पंजाब के फगवाड़ा में हुआ था। उनका पूरा नाम धरम सिंह देयोल है। आज वह 84 साल के हो गए हैं। धर्मेंद्र के जन्मदिन के मौके पर उनके जीवन, फिल्मी करियर, निजी जीवन और लव लाइफ के बारे में जानते हैं।

शुरुआत पढ़ाई से करते हैं। धर्मेंद्र की पढ़ाई फगवाड़ा के आर्य हाई स्कूल और रामगढ़िया स्कूल में हुई, लेकिन वह सिर्फ मैट्रिक तक पढ़ पाए थे। फिर धर्मेंद्र ने फिल्मों में जाने का मन बनाया। थोड़ी जान पहचान भी थी।

उनकी बुआ के बेटे वीरेंदर पंजाबी फिल्मों के सुपरस्टार और डायरेक्टर थे। पर धर्मेंद्र को ब्रेक मिला टैलेंट हंट से। धर्मेंद्र ने फिल्मफेयर की तरफ से आयोजित टैलेंट हंट प्रतियोगिता में हिस्सा लिया और जीत हासिल की।

धर्मेंद्र ने 1960 में ‘दिल भी तेरा हम भी तेरे’ फिल्म से बॉलीवुड में डेब्यू किया, लेकिन उन्हें पहचान मिली फिल्म ‘फूल और पत्थर’ से। इसके बाद उन्होंने शोले, बगावत, प्रतिज्ञा, धरमवीर, हुकूमत, चुपके-चुपके, सीता और गीता, आंखें और द बर्निंग ट्रेन समेत दर्जनों सुपरहिट फिल्में दीं।

पहली पत्नी प्रकाश कौर

धर्मेंद्र की निजी जिंदगी की बात करें तो उन्होंने दो शादियां की। धर्मेंद्र की पहली शादी 19 साल की उम्र में प्रकाश कौर से हुई थी। धर्मेंद्र और प्रकाश कौर के चार बच्चे सनी देओल, बॉबी देओल, विजेता देओल और अजीता देओल हैं। वहीं धर्मेंद्र ने दूसरी शादी हेमा मालिनी से की है। हेमा मालिनी और धर्मेंद्र की दो बेटियां ईशा देओल और अहाना देओल हैं।

धर्मेंद्र और हेमा मालिनी की प्रेम कहानी

1970 के बाद लगातार हेमा और धर्मेंद्र एक साथ फ‍िल्‍में करते रहे और दोनों के बीच प्‍यार हो गया। यह प्‍यार शोले तक आते-आते परवान चढ़ा। 1975 में र‍िलीज हुई शोले के बाद 1979 में दोनों ने शादी कर ली।

हेमा मालिनी को किया वह फोन कॉल

कहते हैं कि जीतेंद्र ने हेमा को प्रपोज कर दिया था। हेमा को भी उस वक्त धर्मेंद्र के साथ अपने रिश्ते का कोई फ्यूचर नहीं दिख रहा था क्योंकि वह पहले से शादीशुदा थे। उस वक्त जीतेंद्र और हेमा की एक फिल्म दुल्हन की शूटिंग चल रही थी।

जीतेंद्र ने हेमा मालिनी का दिल जीतने की खूब कोशिश की। फिल्म बनते ही अपने मम्मी-पापा के लेकर हेमा के घर पहुंच गए। कहते हैं कि जब हेमा और जीतेंद्र के परिवार वाले बैठे बातें कर ही रहे थे, तभी हेमा के पास धर्मेंद्र का फोन आया।

धर्मेंद्र ने गुस्से में हेमा मालिनी से कहा कि चाहे जो फैसला लो, लेकिन उससे पहले एक बार मिल लो। आखिरकार हेमा और जीतेंद्र की कहानी पर पूर्ण विराम लग गया। फिर हेमा और धर्मेंद्र ने शादी कर ली।

Tags
Back to top button