खेलबिज़नेस

B’day Spl: आकाश चोपड़ा के कॉमेंट्री के कायल हैं टीम इंडिया के फैंस

आकाश सोशल मीडिया पर भी सक्रिय

नई दिल्ली:भारतीय क्रिकेट टीम के लिए 2003 के अंत से 2004 के अंत तक एक रक्षात्मक सलामी बल्लेबाज और टेस्ट मैचों में करीबी कैच के रूप में खेलने वाले पूर्व भारतीय क्रिकेटर दिल्ली के आकाश चोपड़ा का आज जन्मदिन है. आइए जानते हैं उनके बारे में कुछ बातें…

बड़ी फैन फॉलोइंग है आकाश की

आकाश का कॉमेंट्री करने का अंदाज तो निराला है ही लेकिन उनकी हिंदी में कॉमेंट्री करने के अंदाज के साथ साथ उनकी क्रिकेटीय समझ के भी लोग खासे कायल हैं जो उनके कॉमेंट्री के दौरान साफ झलकती है. आकाश सोशल मीडिया पर भी सक्रिय हैं और कई बार अपने कमेंट्स से चर्चा में भी रहते हैं. सोशल मीडिया, खासतौर पर ट्विटर पर उनकी खासी फैन फॉलोंइंग है ट्विटर पर उनके तीन मिलियन फॉलोअर हैं.

घरेलू अनुभव है ज्यादा

आकाश ने टीम इंडिया के लिए केवल 10 टेस्ट मैच ही खेले हैं और वे टीम इंडिया के लिए कोई वनडे मैच नहीं खेल सके. इतने कम इंटरनेशनल अनुभव के बाद भी उनकी कॉमेंट्री में परिपक्वता का राज उनके घरेलू क्रिकेट अनुभव में छिपा है.

आकाश ने 1997-98 से फर्स्ट क्लास मैच खेलने शुरू किए थे. जबकि 2013 में उन्होंने आखिरी मैच खेला था. आकाश एक तकनीकी रूप से सशक्त बल्लेबाज रहे. वे क्रीज में टिके रहने का बहुत शानदार धैर्य दिखाते और शायद ही कभी अपना विकेट फेंकते देखे गए.

कैसा रहा करियर

अपने 10 टेस्ट के करियर में आकाश ने ऑस्ट्रेलिया में चार टेस्ट मैच खेले जहां उन्होंने बढ़िया बल्लेबाजी तो की लेकिन वे 50 प्लस का स्कोर बनाने में कामयाब नहीं हुए जिससी वजह से उनकी प्रतिभा को तवज्जो नहीं मिल सकी.

उन्होंने 10 टेस्ट की 19 पारियों में 23 के औसत से 437 रन बनाए जिसमें दो फिफ्टी के साथ उनका सर्वोच्च स्कोर 60 रन है. आकाश ने 162 फर्स्टक्लास टेस्ट में 10839 रन बनाए हैं जो कि उनके क्रिकेटीय ज्ञान में झलकते हैं. उननके नाम 29 फर्स्ट क्लास शतक और 53 हाफ सेंचुरी हैं. करियर के आखिरी पड़ाव में वे हिमाचल प्रदेश के कप्तान थे.

लेखक भी हैं आकाश

आकाश एक बेहतरीन कॉ़मेंटेटर के साथ एक क्रिकेट लेख भी हैं वेबसाइट पर उनके लेख विशेष टिप्पणी के तौर पर आते रहते हैं. इसके अलावा वे क्रिकेट पर किताबें भी लिख चुके हैं. उनकी किताबों में बियोंड द ब्लूज: ‘ए फर्स्ट क्लास सीजन लाइक नो अदर’, ‘आउट ऑफ द ब्लू’ प्रमुख हैं. उनके लेखन को समीक्षकों ने बहुत पसंद किया है. इसके अलावा वे सचिन तेंदुलकर और राहुल द्रविड़ की किताबों में आकाश चोपड़ा पर एक-एक चैप्टर है.

Tags
Back to top button