खेल

b’day spl: सबसे ज्यादा विकेट लेने के मामले में दूसरे नंबर पर शेन वार्न

शेन वार्न एक दिव्य आंतरिक मैचों में ऑस्ट्रेलियाई राष्ट्रीय टीम की कप्तानी की शुरुआत की

नई दिल्ली: शेन कीथ वार्न एक ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट कमेंटेटर और पूर्व अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेटर शेन वार्न का आज 51वां जन्मदिन है. शेन वार्न एक दिव्य आंतरिक मैचों में ऑस्ट्रेलियाई राष्ट्रीय टीम की कप्तानी की शुरुआत की।

शेन वार्न को महान गेंदबाज का दर्जा दिया जाता है, क्योंकि उन्होंने महान काम किए हैं। टेस्ट क्रिकेट में शेन वार्न सबसे ज्यादा विकेट लेने के मामले में दूसरे नंबर पर हैं, लेकिन ऑस्ट्रेलिया के लिए टेस्ट क्रिकेट में 700 से ज्यादा विकेट लेकर उन्होंने इतिहास रचा है। शेन वार्न को सदी की सबसे बेहतरीन गेंद डालने के लिए भी जाना जाता है।

विक्टोरिया में जन्मे शेन वार्न ने ऑस्ट्रेलिया के लिए वर्ल्ड कप जीत में भी अहम योगदान अदा किया हुआ है। इसके अलावा शेन वार्न IPL के आगाज सत्र की चैंपियन टीम राजस्थान रॉयल्स के कप्तान भी थे।

IPL 2008 के फाइनल में राजस्थान की टीम ने एमएस धौनी की कप्तानी वाली चेन्नई सुपर किंग्स को 3 विकेट से हराया था। उस सत्र में शेन वार्न ने राजस्थान के लिए कुल 15 मैच खेले थे और इन 15 मैचों में उन्होंने 19 विकेट हासिल किए थे। आखिरी गेंद तक चले मुकाबले में राजस्थान को खिताबी जीत मिली थी।

वार्न की बॉल ऑफ द सेंचुरी

ऑस्ट्रेलियाई लेग स्पिनर शेन कीथ वार्न के क्रिकेट के आंकड़ों की बात करने से पहले हम उनके द्वारा फेंकी गई सदी की सबसे बेहतरीन गेंद यानी बॉल ऑफ द सेंचुरी की बात करेंगे। वार्न ने मैदान पर अपना ऐसा जादू बिखेरा था, जिसकी दुनिया आज भी कायल है। 1993 में इंग्लैंड के खिलाफ एशेज सीरीज के दौरान उन्होंने एक ऐसी गेंद फेंकी थी, जिसको अगर आज भी देखा जाए तो आप उसे असाधारण तो कहेंगे ही साथ ही साथ आप उसे किसी चमत्कार से कम नहीं बताएंगे, क्योंकि आमतौर पर क्रिकेट में ऐसा देखा नहीं जाता।

1993 की एशेज सीरीज के पहले टेस्ट में मैनचेस्टर के मैदान पर मार्क टेलर की सेंचुरी ने सुर्खियां बटोरीं, लेकिन इंग्लैंडके स्पिनर पीटर सच ने 67 रन देकर 6 विकेट हासिल किए थे और ऑस्ट्रेलिया को 289 रन पर रोक दिया था। इसके बाद बल्लेबाजी करने उतरी इंग्लैंड को अच्छी शुरुआत मिली, लेकिन पहला विकेट माइक अथॉर्टन के रूप में गिरा तो कंगारू कप्तान ने गेंद लेग स्पिनर शेन वार्न को थमा दी। उधर, इंग्लैंड के कप्तान ग्राहम गूच ने माइक गेटिंग के साथ पारी को आगे बढ़ाना शुरू किया, लेकिन इस बीच एक जादू देखने को मिला।

हर कोई था हैरान

दरअसल, 4 रन पर बल्लेबाजी कर रहे माइक गेटिंग को शेन वार्न ने एक ऐसी गेंद डाली, जिसे वो जब तक समझ पाते तब तक उनके ऑफ स्टंप्स का बेल उड़ गया था। वार्न की इसी गेंद को बॉल ऑफ द सेंचुरी कहा गया था, क्योंकि वार्न ने गेंद को लेग स्टंप्स के काफी बाहर पिच कराया था और गेंद ने इतना टर्न लिया कि माइक गेटिंग के ऑफ स्टंप्स को जा टकराई। इसे देखकर हर कोई हैरान था। माइक गेटिंग से लेकर इंग्लिश कैप्टन ग्राहम कोच, फील्ड अंपायर और फील्डिंग कर रही ऑस्ट्रेलियाई टीम का हर खिलाड़ी इससे हैरान था। देखें ये वीडियो

शेन वार्न के इंटरनेशनल करियर की बात करें तो उन्होंने 145 टेस्ट मैचों में देश के लिए 708 विकेट चटकाए हैं। इस दौरान उन्होंने 37 बार फाइव विकेट हॉल लिया है, जबकि 10 बार वे टेस्ट क्रिकेट में दोनों पारियों में मिलाकर 10-10 विकेट निकालने में सफल हुए हैं। वहीं, 194 वनडे मैचों में शेन वार्न के नाम 293 विकेट लेने का रिकॉर्ड दर्ज है। टेस्ट क्रिकेट में वार्न ने 1992 में डेब्यू किया था, जबकि वनडे क्रिकेट में वे एक साल बाद डेब्यू कर पाए थे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button