B’day Spl: इस क्रिकेटर ने भारत और पाकिस्तान के लिए खेला टेस्ट क्रिकेट

कम उम्र में ही घरेलू क्रिेकेट में किया धमाल

नई दिल्ली: बाएं हाथ के शानदार बल्लेबाज और कवर में शानदार फील्डर गुल मोहम्मद ने 8 बार भारत और एक बार पाकिस्तान के लिए टेस्ट क्रिकेट खेला. बाएं हाथ के तूफानी बल्लेबाज रह चुके मोहम्मद बाएं हाथ के मीडियम पेसर गेंदबाज थे.

लेकिन गुल को उस समय के बेहतरीन फिल्डर के तौर पर जाना जाता था जब भारतीय खिलाड़ी फिल्डिंग में चुस्त नहीं हुआ करते थे. कवर्स का क्षेत्र उनकी फेवरेट फिल्डिंग पोजीशन थी. वे दोनों हाथों से फिल्डिंग करने में माहिर थे.

17 साल की उम्र में उत्तर भारत की ओर से रणजी ट्रॉफी में गुल ने अपनी शुरुआत की थी. इसके बाद उत्तर भारत त्रिकोणीय टूर्नामेंट में गुल ने हिंदुओं के खिलाफ मुस्लिम्स के लिए 95 रन की शानदार पारी खेली थी. दो साल बाद उन्होंने शेष भारत के लिए वेस्टर्न इंडिया के खिलाफ शतक ठोका था.

जल्द ही घरेलू प्रदर्शन के आधार पर वे ज्यादा दिन भारतीय टीम से बाहर नहीं रह सके. लॉर्ड्स में खेले अपने पहले टेस्ट में वे सफल नहीं रहे, लेकिन इसके बाद एक बार फिर उन्होंने रणजी ट्रॉफी में बेहतरीन प्रदर्शन कर 319 रन की शानदार पारी खेली.

70 साल की उम्र में लीवर कैंसर की वजह से दुनिया को अलवदा

1955 में गुल पाकिस्तान चले गए और वहां 1956-57 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पाकिस्तान के लिए उन्होंने एकमात्र टेस्ट मैच खेला था. इस मैच में वे विनिंग शॉट लगाने वाले खिलाड़ी रहे. लाहौर में पैदा होने वाला यह खिलाड़ी 1992 में 70 साल की उम्र में लीवर कैंसर की वजह से दुनिया को अलवदा कह गया.

गुल मोहम्मद, जिसे कभी-कभी गुल माहोमेड भी कहा जाता है, ने भारत और पाकिस्तान के लिए टेस्ट क्रिकेट खेला। उनकी शिक्षा इस्लामिया कॉलेज, लाहौर में हुई थी। गुल मोहम्मद एक छोटा आदमी था जो केवल 5 ‘5 खड़ा था, लेकिन ।

क्रिकेट की दुनिया में बहुत कम खिलाड़ी ऐसे है जिन्होंने दो देशों के लिए क्रिेकेट खेला हो. आमतौर पर ऐसे खिलाड़ियों में दक्षिण अफ्रीका के खिलाड़ियों का नाम आता है. इनमें सबसे प्रमुख केपलर वेसल्स का नाम है जो पहले ऑस्ट्रेलिया के लिए खेलने के बाद दक्षिण अफ्रीका के लिए खेले.

Back to top button