खेल

b’day spl: इस तेज गेंदबाज के नाम आईसीसी विश्व कप की पहली हैट्रिक दर्ज

विश्व कप में ड्रीम परफॉर्मेंस के बावजूद विलेन रहे चेतन शर्मा

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम के लिए एक तेज गेंदबाज के रूप में टेस्ट और वनडे में अपना योगदान देने वाले पूर्व भारतीय क्रिकेटर और बहुजन समाजवादी पार्टी के नेता
चेतन शर्मा का आज 54 वां जन्मदिन है.

तेज गेंदबाज चेतन शर्मा एक ऐसा गेंदबाज था जो विश्व कप में ड्रीम परफॉर्मेंस के बावजूद अपने देश के क्रिकेटप्रेमियों द्वारा हीरो की बजाय विलेन के तौर पर ज्यादा याद किया जाता है. भारत के इस तेज गेंदबाज के नाम आईसीसी विश्व कप की पहली हैट्रिक दर्ज है.

महज 18 साल की उम्र में डेब्यू

चेतन शर्मा 3 जनवरी 1966 को लुधियाना में जन्मे थे. उन्होंने महज 18 साल की उम्र में डेब्यू किया और भारत को अहम जीत दिलाई. साल 1986 में भारत की इंग्लैंड में जीत के हीरो भी चेतन ही थे, जिन्होंने एजबेस्टन (Edgbaston) टेस्ट में 10 विकेट झटके थे. इसके एक साल बाद ही उन्होंने भारत में हुए विश्व कप में हैट्रिक ली और ऐसा करने वाले दुनिया के पहले गेंदबाज बने.

वनडे क्रिकेट में शतक

चेतन शर्मा वनडे क्रिकेट में शतक भी लगा चुके हैं. वे दुनिया के चुनिंदा क्रिकेटरों में से एक हैं, जिन्होंने वनडे क्रिकेट में शतक भी लगाया है और हैट्रिक भी ली है. इसके बावजूद जब भी चेतन शर्मा का जिक्र होता है तो सबसे पहले जावेद मियांदाद (Javed Miandad) का छक्का याद आता है, जो उन्होंने मैच की आखिरी गेंद पर लगाई थी.

ऑस्ट्रेलेशिया कप का फाइनल

वो 1986 के अप्रैल की 18 तारीख थी, जिस दिन ऑस्ट्रेलेशिया कप का फाइनल खेला गया. आमने-सामने भारत-पाकिस्तान थे. भारत ने पहले बैटिंग करते हुए सात विकेट पर 245 रन बनाए. इसके जवाब में पाकिस्तान 49.5 ओवर में 242 रन बना चुका था. पाकिस्तान को जीत के लिए मैच की आखिरी गेंद पर चार रन की जरूरत थी.

आखिरी गेंद पर जोरदार छक्का

गेंदबाजी का जिम्मा चेतन शर्मा पर था और पाकिस्तान की उम्मीदें जावेद मियांदाद पर, जो उस वक्त 110 रन बनाकर खेल रहे थे. मियांदाद, भारतीय उम्मीदों पर भारी पड़े. उन्होंने चेतन शर्मा की आखिरी गेंद पर जोरदार छक्का लगाया. पाकिस्तान को जीत मिली और चेतन शर्मा को ताउम्र ना धुलने वाला दाग…

Tags
Back to top button