अगली बार अपने फोन को अपडेट करने से पहले रहें जरा सावधान

सिक्यॉरिटी रिसर्चर्स ने एक नए और खतरनाक मैलवेयर की पहचान की

नई दिल्ली: दुनिया में सबसे ज्यादा लोग एंड्रॉयड स्मार्टफोन का प्रयोग करते हैं। ज्यादातर लोग ये 15 गलतियां अक्सर करते हैं, जिससे फोन हैंग होने, बैटरी जल्दी डिस्चार्ज होने व डेटा गायब होने जैसी दिक्कतें होती हैं। ऐसे में फोन को अपडेट करना जरुरी हो जाता है।

लेकिन अपने फोन को अपडेट करने से पहले जरा सावधान रहें। सिस्टम अपडेट करने के चक्कर में आपका फोन वायरस का शिकार हो सकता है। सिक्यॉरिटी रिसर्चर्स ने एक नए और खतरनाक मैलवेयर की पहचान की है, जो एंड्रॉइड यूजर्स को अपना शिकार बना रहा है।

चोरी हो जाएगा पूरा डेटा

रिपोर्ट के मुताबिक, सबसे ज्यादा चिंताजनक बात तो यह है कि यह मैलवेयर एक सिस्टम अपडेट (System Update) ऐप्लिकेशन के रूप में छिपा हुआ है, जिस वजह से इसे पकड़ पाना काफी मुश्किल है। एक बार फोन में इंस्टॉल होने के बाद यह एंड्रॉइड फोन पर पूरा कंट्रोल कर लेता है और ना सिर्फ यूजर का डेटा, बल्कि मैसेज और तस्वीरें तक चुरा लेता है।

शोधकर्ताओं का कहना है कि एक बार फोन में यह मैलवेयर आने के बाद हैकर्स ऑडियो और फोन कॉल रिकॉर्ड कर सकते हैं, फोटो ले सकते हैं, व्हाट्सएप मैसेज पढ़ सकते हैं, मैसेज चुरा सकते हैं, डिफ़ॉल्ट ब्राउजर के बुकमार्क और सर्च देख सकते हैं, फाइल्स सर्च कर सकते हैं, क्लिपरबोर्ड का डेटा देख सकते हैं। इसके अलावा हैकर्स नोटिफिकेशन और फोन में इंस्टॉल्ड ऐप्लिकेशन देखने, तस्वीर और वीडियो चुराने, जीपीएल लोकेशन ट्रैक करने, और फोन में मौजूद कॉन्टैक्ट की जानकारी चुराने जैसे काम भी कर सकते हैं।

बचने का क्या है तरीका

हालांकि ध्यान देने वाली बात यह है कि सिस्टम अपडेट नाम का यह फर्जी ऐप गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध नहीं है। यानी अगर आप फोन अपडेट करने के लिए प्ले स्टोर के किसी ऐप का इस्तेमाल कर रहे हैं तो आपको घबराने की जरूरत नहीं है। हमेशा इस बात का ध्यान रखें कि आपके फोन में दी गई सिस्टम अपडेट सेटिंग्स में जाकर ही स्मार्टफोन अपडेट करें। बेहतर होगा इसके लिए अलग से कोई ऐप न डालें।

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button