खेल

FIFA विश्वकप 2018 के रंग में रंगा बंगाल

कोलकाता : फुटबॉल विश्वकप की खुमारी बंगाल के लोगों पर पूरी तरह से छा गई है। बाली से बालीगंज तक अथवा टाला से टॉलीवुड तक, कोलकाता के आसमान में उन सभी देशों के झंडे लहराने लगे हैं, जो इस विश्वकप का हिस्सा हैं।

कोलकाता पर छाई फुटबॉल की खुमारी सड़कों से लेकर गलियों तक में देखी जा सकती है। बसों, ट्रेनों में सफर करने वालों, फुटपाथों से गुजरने वालों ने अपनी पसंदीदा टीम की जर्सी पहन रखी है। कहीं अर्जेंटीना की जर्सी तो कहीं ब्राजील की। कोई मेसी का फैन है तो कोई नेमार का।

हर गली-मुहल्ले में इन देशों के झंडे लहरा रहे हैं तो दीवारों पर फुटबॉल विश्वकप, मेसी, नेमार या इन देशों के झंडों की चित्रकारी कर दी गई है। कोलकाता में तो एक चायवाले ने अपने पूरे घर को ही अर्जेंटीना के झंडे के रंग में रंग दिया है और खुद भी उसी रंग की जर्सी पहनकर चाय बेच रहा था।

फुटबॉल के प्रति ‘कलकतियन’ का यह गहरा प्रेम ही है जो पूरी दुनिया से इतर फुटबॉल विश्वकप के रंग में रंग गया है। टाला पार्क पूजा कमेटी की खूंटी पूजा ही विश्वकप में रंगी रही।

कमेटी की सदस्याओं ने ब्राजील और अर्जेंटीना की जर्सी पहनकर नृत्य किया तो अन्य सदस्यों ने भी इन जर्सियों के साथ फुटबाल लेकर धुनुची नृत्य किया। ऐसे ही दक्षिण एसबी पार्क सार्वजनीन पूजा कमेटी ने अपने पूरे क्लब की दीवारों को विश्वकप के रंग में रंग दिया है।

पूरे इलाके में उन 32 देशों के झंडे लगाए गए हैं, जो इस विश्वकप का हिस्सा हैं। समतल तो समतल, पहाड़ भी विश्वकप की धुन पर नाच रहा है।

आखिर जहां से बाइचुंग भुटिया जैसे मशहूर खिलाड़ी निकलें हों, वह इलाका फुटबॉल की खुमारी से कैसे बच सकता है। दार्जिलिंग, सिलीगुड़ी व जलपाईगुड़ी के प्राय: सारे इलाके हॉलैंड, अर्जेंटीना, ब्राजील, पोलैंड आदि के झंडों व चित्रकारियों से पटे पड़े हैं।

Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.