बेस्ट के कर्मचारियों का हड़ताल पर सातवां दिन, गतिरोध बरकरार

ओला और उबर ने भी दी हड़ताल पर जाने की धमकी

मुंबई: आज सोमवार को बेस्ट कर्मचारियों की हड़ताल का 7वां दिन है। बेस्ट कर्मचारियों की हड़ताल को देखते हुए ओला और उबर ने भी प्रशासन को हड़ताल पर जाने की धमकी दी है। पिछले 10 साल में इसे बेस्ट कर्मचारियों की अबतक की सबसे बड़ी हड़ताल कहा जा रहा है।

रविवार को हुई महाराष्ट्र के मुख्य सचिव की अध्यक्षता में निगम संचालित परिवहन के प्रबंधन और हड़तालरत कर्मचारियों की यूनियनों के बीच हुई बैठक बेनतीजा रहने के कारण गतिरोध बरकरार है।

इसके साथ ही अब ओला और उबर के चालको ने भी अपनी मांग पूरा ना होने पर हड़ताल की धमकी दी है। हड़ताल की तारीख अभी तय नहीं है। ओला और उबर कैब ड्राइवर अक्टूबर-नवंबर में 12 दिनों की हड़ताल पर चले गए थे, जिससे यात्रियों के साथ-साथ ड्राइवर पार्टनर्स को भी काफी असुविधा हुई।

निजीकरण पर नहीं जाने देंगे बेस्ट का मालिकाना हक: उद्धव

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा उनकी पार्टी बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) के बजट के साथ परिवहन के बजट को एक में मिलाने के अपने वायदे को पूरा करेगी। इसके साथ ही उन्होने कहा की कि बेस्ट का निजीकरण अंतिम विकल्प नहीं है। यदि निजीकरण का विचार सामने आता है, तब भी हम बेस्ट का मालिकाना हक नहीं जाने देंगे। बेस्ट का संपूर्ण निजीकरण नहीं होने देंगे।

बॉम्बे हाईकोर्ट में सुनवाई आज

बॉम्बे हाईकोर्ट में आज इस मामले की सुनवाई होने वाली है। शुक्रवार को मामले की सुनवाई करते हुए कोर्ट ने सरकार को आदेश दिया था की वो इस मामले को जल्द से जल्द खत्म करे और अगली सुनवाई सोमवार तक के लिए टाल दी थी।

1
Back to top button