लॉकडाउन के बीच बीसी एवं सखी दीदीयों ने घर-घर पहुँचकर की 1करोड़ 70 लाख रुपये राशि का ट्रांजेक्शन

कोरोना की दूसरी खौफनाक लहर ने जहां शहरी एवं ग्रामीण लोगों के जीवन को बेहद प्रभावित किया है।

बलौदाबाजार,24 अप्रैल 2021 : लॉकडाउन के बीच में करीब 130 बीसी एवं सखी दीदीयों ने घर-घर पहुँचकर अप्रैल माह में अब तक 1 करोड़ 70 लाख रुपये राशि का ट्रांजेक्शन किया है। कोरोना की दूसरी खौफनाक लहर ने जहां शहरी एवं ग्रामीण लोगों के जीवन को बेहद प्रभावित किया है।

कलेक्टर सुनील कुमार जैन के निर्देश में ग्रामीण अंचलों के पेंशन धारियों बुजुर्गों, महिलाओं को किसी भी तरह भुगतान में समस्या ना हो उसके लिए जिला पंचायत के माध्यम से बीसी एवं सखी दीदीयों को निर्देश दिये गये है। जिले के बीसी एवं पे प्वाइंट सखी दीदियां कोविड 19 के दिशा निर्देशों का पालन करते हुए सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों में घर घर जाकर बैंकिग सुविधाएं उपलब्ध कराकर अपना कर्तव्य पूरा कर रही हैं। इससे ग्रामीणों को उनकी पेंशन और श्रम भुगतान जैसी सुविधाएं घर पर ही मिल रही है।

कोरोना काल के इन कठिन हालातों में भी बीसी सखी एवं पे प्वाइंट सखी दीदियों ने हार नहीं मानी परिणाम स्वरूप है कि बलौदाबाज़ार -भाटापारा में कार्यरत 130 से अधिक बैंक बी सी सखी एवं पे प्वाइंट सखी दीदीयों ने लॉकडॉउन के दौरान अप्रैल माह में ही 1 करोड़ 70 लाख रूपये तक की राशि का लेन-देन किया है।

राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन बिहान

राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन बिहान के विकासखंड कार्यक्रम प्रबंधक विक्रम सिंह ने उक्त जानकारी देते हुए बताया कि बिहान योजना के अंतर्गत स्व सहायता समूहों के सक्रिय सदस्य द्वारा बीसी सखी /पे प्वाइंट सखी के रूप में आजीविका संचालन किया जा रहा है। बिहान के तहत दूरस्थ क्षेत्रों में जहा लोगो की पहुंच बैंको से दूर है।

बीसी एवं पे प्वाइंट सखियों को नियुक्त किया जाता है। जो स्वयं सहायता समूहों के सक्रिय सदस्य होते है। जिसके तहत ग्रामीणों को शासन की योजनाओं जैसे प्रधानमंत्री आवास,बीमा सुरक्षा योजना,किसान सम्मान निधि,गोधन न्याय योजना आदि से जुड़ने के लिए बैंक खाते खोलने, पेंशन का आहरण करने,मनरेगा के श्रमिकों को भुगतान पाने के लिए घर पहुंच सेवा मिलने लगी है। प्रभारी सीईओ जिला पंचायत हरिशंकर चौहान ने बताया कि जिले में बिहान के माध्यम से दूरस्थ क्षेत्रों में सहज बैंकिंग की सुविधा प्रदान करने के लिए 130 से ज्यादा बीसी सखी नियुक्त की गई हैं।

जो अपने रोस्टर के आधार पर गांव में जाकर ग्रामीण हितग्राहियों को आसान बैंकिंग के माध्यम से सुविधाएं प्रदान कर रही हैं। जिले में राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत बीसी सखियों एवं पे पोईंट सखियों द्वारा आम लोगों एवं दूरस्थ ग्रामीणों को आधार कार्ड के द्वारा नगद लेनदेन की सुविधा उपलब्ध करायी जा रही है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button