गरियाबंद जिले के प्रभारी मंत्री भगत ने ली विभागीय समीक्षा बैठक

गरियाबंद : जनता की समस्याओं का समाधान समय पर सुनिश्चित हो- प्रभारी मंत्री भगत 

  • धान के अलावा अन्य फसलों को भी प्रोत्साहित करें
  • कोविड के संभावित तीसरी लहर से निपटने अभी से तैयारी कर लेवें

गरियाबंद 07 जुलाई 2021 : प्रदेश के खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं संस्कृति मंत्री एवं जिले के प्रभारी मंत्री अमरजीत भगत ने आज कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में शासन की योजनाओं से संबंधित कार्यो की विस्तृत समीक्षा की। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि जिले के अधिकारी मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के मंशानुरूप कार्य करेंगे। उन्होंने कहा कि जनता की समस्याओं का समाधान सुनिश्चित हो। कहा कि गरियाबंद जिला प्राकृतिक सौंदर्य और वनों से आच्छादित है। यहां विकास की अपार संभावनाएं है।

भूतेश्वरनाथ स्थल को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने के लिए प्रस्ताव देने के निर्देश दिये है। बैठक में राजिम विधायक अमितेश शुक्ल, जिला पंचायत अध्यक्ष स्मृति ठाकुर, उपाध्यक्ष संजय नेताम, कलेक्टर निलेशकुमार क्षीरसागर, पुलिस अधीक्षक पारुल माथुर सहित जिला अधिकारी एवं जनप्रतिनिधि मौजूद थे।

नवनियुक्त प्रभारी मंत्री अमरजीत भगत 

जिले के नवनियुक्त प्रभारी मंत्री अमरजीत भगत बुधवार को जिले के दौरे पर थे। इस दौरान उन्होंने लगभग ढाई घंटे समीक्षा बैठक लेकर संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया है कि आम जनता के समस्याओं का समयबद्ध तरीके से समाधान करें। उन्होंने विभिन्न विभागों की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को जरूरी मार्गदर्शन एवं निर्देश दिये हैं।

खाद्य विभाग के समीक्षा में उन्होंने कहा कि सभी पहुंचविहीन केन्द्रों में खाद्यान्न का भण्डारण सुनिश्चित हो। खाद्य सुरक्षा समिति का पुनर्गठन कर अनिवार्य रूप से किया जाए। उन्होंने किसान न्याय योजना के संबंध में भी जानकारी ली। इसके तहत किसानों को अरहर, मूंग, उड़द, केला, कोदो, कुटकी, रागी जैसे फसल को बढ़ावा देने के लिए जोर दिया।

गोधन न्याय योजना 

मंत्री भगत ने गोधन न्याय योजना अंतर्गत जुड़े महिला समूहों के भुगतान समय पर करने के निर्देश दिये है। साथ ही कहा कि जनपद सीईओ गौठानों का निरीक्षण कर उसे मल्टी एक्टिविटी सेंटर के रूप में विकसित करें। उन्होंने जिले में महिला समूहों को आयजनित गतिविधियों से जोड़ने के निर्देश दिये गये। स्वास्थ्य विभाग के समीक्षा के दौरान संभावित तीसरे लहर से निपटने के लिए अभी से तैयारी करने और सतर्कता बरतने कहा है। सभी सामुदायिक और प्राथिमिक स्वास्थ्य केन्द्रों में पर्याप्त दवाई और अन्य संसाधन उपलब्ध करने तथा मितानिनों के पास दवाई उपलब्धता सुनिश्चित करने कहा गया है।

उन्होंने कहा कि सुपेबेड़ा में उप स्वास्थ्य केन्द्र का निर्माण शीघ्र किया जाए। उन्होंने यहां कीडनी से पीड़ित मरीजों की जानकारी ली और सतत् ईलाज के निर्देश दिये है। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग को भी शुद्ध पेयजल की व्यवस्था के लिए आवश्यक तैयारी करने कहा गया। क्रेडा विभाग को दुर्गम और वनांचल क्षेत्रों में हाईमास्क लाईट लगाने तथा पूर्व से स्थापित सोलर लाइटों के रख-रखाव के निर्देश दिये। विद्युत विभाग को लो-वोल्टेज की समस्या से निजात दिलाने और इंदागांव विद्युत सब स्टेशन के कार्य को तीव्र गति से पूर्ण करने के निर्देश दिये है।

बैठक में कार्यपालन अभियंता

बैठक में कार्यपालन अभियंता के अनुपस्थित पर नाराजगी जाहिर करते हुए उन्हें नोटिस देने के निर्देश दिये गये। प्रभारी मंत्री ने राजस्व प्रकरणों में भी तेजी लाने के निर्देश दिये है। उन्होंने कहा कि सीमांकन, बटवारा, नामांतरण आदि प्रकरणों पर लोक सेवा गारंटी अधिनियम के तहत निराकरण सुनिश्चित हो। बैठक में अन्य विभागों की भी समीक्षा की गई। राजिम विधायक अमितेश शुक्ल ने इस अवसर पर कहा कि जिले में कोई भी समस्या हो तो प्रभारी मंत्री के संज्ञान में अवश्य लाये।

उन्होंने कहा कि यदि संसाधनों की कमी भी हो तो उसे भी अवगत कराये, ताकि उसका समाधान किया जा सके। बैठक में जिला पंचायत सदस्य लक्ष्मी साहू,भावसिंह साहू, जनक साहू,विनोद तिवारी,विकास तिवारी, जिला पंचायत सीईओ संदीप अग्रवाल, अपर कलेक्टर जे.आर. चौरसिया एवं वन मण्डलाअधिकारी मयंक अग्रवाल सहित अन्य जिला अधिकारी मौजूद थे।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button