भगवंत मान ने दिया पार्टी को लेकर बड़ा बयान

आप सांसद ने कहा कि मजीठिया के खिलाफ हमारी लड़ाई जारी रहेगी. अरविंद की माफी का मतलब ये नहीं हैं कि उसे (बिक्रम सिंह मजीठिया) को क्लीन चीट मिल गयी है. लाखों लोगों की उसके खिलाफ मुहिम जारी रहेगी

आम आदमी पार्टी के सांसद भगवंत मान ने कहा है कि वो पार्टी छोड़ने नहीं जा रहे हैं. उन्होंने कहा, ‘हमने इस पार्टी को अपने खून पसीने से बनाया है. पंजाब में पार्टी टूटने नहीं जा रही है. पार्टी प्रधान अरविंद केजरीवाल ने जो माफी मांगी है उससे मैं सहमत नहीं हूं.’

आप सांसद ने कहा कि मजीठिया के खिलाफ हमारी लड़ाई जारी रहेगी. अरविंद की माफी का मतलब ये नहीं हैं कि उसे (बिक्रम सिंह मजीठिया) को क्लीन चीट मिल गयी है. लाखों लोगों की उसके खिलाफ मुहिम जारी रहेगी.

आपको बता दें कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का मानहानि मामले में अकाली दल नेता बिक्रम मजीठिया से लिखित माफी मांगने के बाद पंजाब में आप नेताओं ने बगावती बरक़रार हैं. आज दिल्ली में अरविंद केजरीवाल पार्टी के पंजाब विधायकों की बैठक बुलाई है जिसमें वह अपनी बात रखेंगे.

लेकिन इस बैठक में पंजाब के विधायक और विपक्ष के नेता सुखपाल खैरा ने बैठक में आने से मना कर दिया है. अब पार्टी के सामने ये भी बड़ा संकट पैदा हो गया है कि क्या इस बैठक में पंजाब से आम आदमी पार्टी के सभी विधायक हिस्सा लेंगे. शनिवार को पंजाब से पार्टी के तीन विधायकों ने केजरीवाल से मिलकर अपना असंतोष ज़ाहिर किया है.

क्या है मामला

गौरतलब है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के शिरोमणि अकाली दल (शिअद) नेता बिक्रम सिंह मजीठिया पर मादक पदार्थों के कारोबार में शामिल होने का आरोप लगाने के लिए माफी मांगने से पार्टी की पंजाब इकाई में संकट शुरू हो गया है और प्रदेश ‘आप’ नेतृत्व पार्टी से अलग होने एवं एक अलग इकाई के गठन पर विचार कर रहा है. पंजाब ‘आप’ ने कहा कि केजरीवाल का ‘‘निरीह तरीके से नतमस्तक’’ हो जाना पीड़ादायक और दुर्भाग्यपूर्ण है.

advt
Back to top button