भागवत ज्ञान समाजिक एकता का प्रतीक : श्रीवास्तव

भागवत ज्ञान समाजिक एकता का प्रतीक : श्रीवास्तव

रायपुर । राजधानी में श्रीमद भागवत सप्ताह ज्ञान पुजारी पार्क टिकरापारा में हो रही है। कथावाचक द्वारकेश लाल के मुखारविंद से प्रवाहित श्रीमद् भागवत कथा ज्ञान गंगा रसपान करने आरडीए अध्यक्ष संजय श्रीवास्तव पहुंचे। उन्होंने कहा कि भागवत ज्ञान यज्ञ के आयोजन से लोगों को धार्मिक लाभ मिलता है। साथ ही सामाजिक एकता, समरसता, भाईचारा बढ़ाने में भी सहायक है।

संजय श्रीवास्वत ने आगे कहा कि, अपने कर्तव्यों को समझना और दूसरों के कर्तव्यों में हस्तक्षेप नहीं करना यही धर्म है। भागवत कथा के सातों दिन सभी पहलुओं के श्रवणपान से मानव का जीवन धन्य हो जाता है। उन्होने आगे कहा कि धर्म हमें जीने की कला सिखाती है। वहीं सामाजिक एकता और भाईचारे का संदेश प्रदान करती है।

कृष्ण के माखन चोरी, गोवर्धन पूजा आदि की चर्चा करते हुए कहा कि कृष्ण तो साक्षात भगवान थे। जिन्होंने माखन चोरी के नाम पर भक्तों का दिल चुराते थे। वृंदावन के गोपियों की भी इच्छा होती थी कि कृष्ण माखन चोरी के लिए तो आएगा ही और दर्शन होने से उसका जीवन धन्य हो जाएगा। जिस घर में कन्हैया माखन चोरी को नहीं पहुंचते गोपियां नाराज हो जाती थी।

उन्होंने कहा कि, वृन्दावन तो प्रेम की नगरी है जहां से कृष्ण ने प्रेम भाव के कई संदेश दिए। इस भागवत ज्ञान यज्ञ के सातवें दिन भक्तों की उमड़ी भीड़ को देख कर सभी श्रद्धालुओं को बधाई दी।

advt
Back to top button