छत्तीसगढ़

कमल विहार में सस्ते कीमत के घर तलाश करने वालों को भाया 3 बीएचके फ्लैट्स

3 बीएचके एलआईजी 2 फ्लैट्स के आवेदन की अंतिम तिथि 31 अक्टूबर

रायपुर : रायपुर विकास प्राधिकरण के साढ़े 10 लाख में कमल विहार में 3बीएचके यानि एक ड्रॉईंग रुप, रसोई और तीन बेड रुम के फ्लैट्स की बुकिंग के प्रति लोग काफी रुचि दिखा रहें हैं. प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एम.डी. कावरे के अनुसार 9 दिनों मे 211 लोगों ने एलआईजी2 के लिए आवेदन पत्र खरीदा है. इसके अंतर्गत कुल 512 फ्लैट्स का निर्माण होना है. इसके आवेदन की अंतिम तिथि 31 अक्टूबर रखी गई है. जबकि ईडब्लूएस व एलआईजी1 के आवेदन पत्र 30 नवंबर 2017 तक भरे जा सकेंगे.
श्री कावरे के अनुसार लोगों को 3बीएचके एलआईजी फ्लैट्स के साथ दो टायलेट, यूटिलिटी बाल्कनी और बेडरुम में बालक्नी की सुविधा के कारण यह लोगों को आकर्षित कर रहा है. 645 वर्गफुट के कारपेट एरिया में लिफ्ट, अग्निशमन, पॉर्किंग और विट्रीफाईड टाईल्स की जैसी सुविधा ने लोगों को एक बेहतरीन विकल्प चुनने का अवसर दिया है. उन्होंने बताया कि प्राधिकरण की अन्य संपत्तियों जिसमें फ्लैट्स व प्लॉट्स शामिल है के मुकाबले लोगों ने कमल विहार के 3बीएचके फ्लैट्स में इतना ज्यादा उत्साह दिखाया है कि इससे लगता है जैसे लोग ऐसे ही सस्ते और वाजिब कीमत के घर की तलाश में थे. श्री कावरे के अनुसार इन फ्लैट्स के लिए प्रधानमंत्री आवास योजना के अतंर्गत बैंकों के माध्यम से आवास ऋण पर केन्द्रीय अनुदान या ब्याज अनुदान लेने की सुविधा भी मिलेगी.
श्री कावरे के अनुसार कमल विहार के सेक्टर 4 में प्रस्तावित फ्लैट्स में 5 लाख रुपए के दो बीएचके फ्लैट्स के ईडब्लूएस, 8 लाख रुपए के दो बीएचके एलआईजी फ्लैट्स की बुकिंग का आफर भी लोगों को अच्छा लग रहा है. उन्होंने कहा कि त्योहारों के अवसर पर प्राधिकरण लोगों को सस्ते और वाजिब कीमत में उनके घर लेने के सपनों को साकार करने के लिए प्रापर्टी लोन मेला भी लगा रहा है जो 16 व 17 अक्टूबर हो प्राधिकरण कार्यालय में प्रातः 11 बजे से शाम 5 बजे तक होगा. इसमें प्राधिकरण के फ्लैट्स,प्लाट्स, दुकानें इत्यादि की जानकारी तो देगा साथ ही बैंकों व नॉन बैंकिग सस्थाओं के माध्यम से ऋण की जानकारी देने के लिए उनके प्रतिनिधि भी उपलब्ध रहेंगे.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.